लॉकडाउन के 3 महीनों में घरेलू हिंसा की 2.47 लाख शिकायतें मिलीं

0
16

नई दिल्ली
कोरोना महामारी की वजह से लगाए गए लॉकडाउन के दौरान जब लोग घरों में थे, तब महिलाओं के साथ उत्पीड़न की घटनाएं भी काफी हुईं। केंद्र सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने गुरुवार को राज्यसभा में बताया कि लॉकडाउन के तीन महीनों में कुल 2.47 लाख से अधिक शिकायतें महिला हेल्पलाइन पर दर्ज हुई।

दरअसल, बीजेपी के राज्यसभा सांसद डॉ. विकास महात्मे ने गुरुवार को पूछा था कि लॉकडाउन के दौरान अप्रैल 2020 से जून 2020 के बीच की अवधि के दौरान कितनी महिलाओं ने घरेलू हिंसा के खिलाफ शिकायत के लिए राष्ट्रीय घरेलू हिंसा हेल्पलाइन का इस्तेमाल किया है? इस अतारांकित सवाल का लिखित जवाब देते हुए स्मृति ईरानी ने यह जानकारी दी।

ईरानी ने बताया कि हिंसा से प्रभावित महिलाओं को आपातकालीन सहायता देने के लिए महिला हेल्पलाइन स्थापित है, जिसका टोल फ्री नंबर 181 है। अप्रैल 2020 से जून 2020 की अवधि के दौरान महिला हेल्पलाइन के माध्यम से 2.47 लाख से अधिक फोन कॉल दर्ज हुई।

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री ने बताया कि महिला हेल्पलाइन देश के 700 जिलों में स्थापित वन स्टॉप सेंटर (ओएससी) के कोआर्डिनशन में कार्य कर रहे हैं। वन स्टॉप सेंटर, एक छत के नीचे पुलिस, कानूनी, चिकित्सा, मनोवैज्ञानिक, शेल्टर आदि सहायता पीड़ित महिलाओं को मुहैया कराते हैं। मुहैया कराई गई सेवाओं पर फीडबैक हासिल करने करने के लिए संबंधित महिलाओं से संपर्क भी किया जाता है।