योगी सरकार ने बताया ‘आतंकवादी’, मुख्तार अंसारी का SC में दावा- मैं हामिद अंसारी के परिवार से हूं…

0
18

चंडीगढ़
पंजाब की रोपड़ जेल में बंद ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में दावा किया है कि वह पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के परिवार से संबंध रखते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उनके परिवार से देश को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और पूर्व राज्यपाल भी मिल चुके हैं। अंसारी ने खुद को यूपी की जेल में ट्रांसफर किए जाने का विरोध करते हुए यह हलफनामा दाखिल किया है।

बता दें कि योगी सरकार काफी समय से मुख्तार अंसारी को यूपी लाने की कोशिश कर रही है। वहीं पंजाब की रोपड़ जेल ने अंसारी को यूपी ट्रांसफर करने से मना कर दिया है। उन्होंने इसके लिए मुख्तार अंसारी की खराब सेहत का हवाला दिया है। मामला फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में है। सोमवार को अंसारी ने सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दाखिल किया, जिसमें उन्होंने दावा किया कि वह पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के खानदान से है।

अंसारी ने हलफनामे में बताया है कि उनके परिवार ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उनके परिवार के हामिद अंसारी देश के उपराष्ट्रपति रहे हैं। बाबा शौकत उल्ला अंसारी ओडिशा के राज्यपाल रहे हैं। वहीं जस्टिस आसिफ अंसारी भी उन्हीं के परिवार से हैं, जो इलाहाबाद हाई कोर्ट के जज रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके पिता सुभानअल्लाह अंसारी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रहे थे।

वहीं, उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार अंसारी को आतंकवादी बताया है। यूपी सरकार ने अंसारी को आतंकवादी कहकर आरोप लगाया कि पंजाब सरकार उनका (अंसारी) समर्थन कर रही है। अंसारी पंजाब में फाइव स्टार सुविधा पा रहे हैं, जबकि उनके खिलाफ हत्या सहित अन्य गंभीर मामले पेंडिंग हैं। यूपी सरकार की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि अंसारी के खिलाफ गंभीर आरोप हैं और मामले यूपी में पेंडिंग हैं।

उन्होंने कहा कि दो साल पहले उन्हें एक नाबालिग से संबंधित केस में पंजाब लाया गया था और तब से वह यहां के जेल में बंद हैं। उन्‍हें संबंधित मामले के मद्देनजर यूपी जेल में ट्रांसफर किया जाए। अंसारी यूपी में पेंडिंग केस में पेशी से बच रहे हैं। इस मामले में अगली सुनवाई 24 फरवरी को होगी।