Covid Vaccine India: कोरोना से पस्त पाकिस्तान, भारत में बनी वैक्सीन बनेगी लड़ाई में मददगार

0
26

नई दिल्ली
वैक्सीन को लेकर भारत की ओर से किए जा रहे प्रयासों को काफी पसंद किया जा रहा है। इसी क्रम में देश की वैक्सीन डिप्लोमेसी में एक नया आयाम जुड़ा है। भारत ने ऐंटी-कोविड की 1 लाख डोज ओमान को भेजे हैं। ओमान खाड़ी में भारत का करीबी सहयोगी है। इससे पहले भारत कई पड़ोसी देशों को कोरोना वैक्सीन भेज चुका है। इसी सप्ताह भारत ने अफगानिस्तान को भी पांच लाख डोज भेजने हैं।

भारत इसके साथ ही निकारागुआ को 2 लाख, बारबेडोस को 1 लाख, डोमिनिका को 70 हजार और मंगोलिया को 1.5 लाख डोज भेजेगा।

मिस्र, अल्जीरिया, यूएई और कुवैत- इन सभी ने भारत से वैक्सीन खरीदी हैं और ये वैक्सीन के व्यावसायिक निर्यात की लिस्ट में शामिल हैं। गिफ्ट के अलावा, मंगोलिया (10 लाख), निकारागुआ (3 लाख), सऊदी अरब (30 लाख), म्यांमार और बांग्लादेश ने भी भारत से वैक्सीन खरीदने के लिए संपर्क किया है। इस खरीद को अभी भारत सरकार की अनुमति का इंतजार है।

इसी बीच, भारत में बनी ऐस्ट्राजेनेका कंपनी की कोविशील्ड वैक्सीन के 70 लाख डोज पाकिस्तान के फ्री कोविड-19 टीकाकरण का हिस्सा होगी। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के स्वास्थ्य मामलों के विशेष सहयोगी डॉक्टर फैसल सुल्तान ने बताया कि यह टीकाकरण अगले सप्ताह वैश्विक कोवैक्स संधिक के अंतर्गत होगा। भारत में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया इस वैक्सीन को तैयार कर रहा है।

इस बीच जहां पाकिस्तान का एक विशेष जहाज चीन से सिनफर्म की कोविड-19 वैक्सीन लेने के लिए रवाना हो चुका है, वहीं डॉक्टर सुलतान ने घोषणा की कुल एक करोड़ 70 लाख कोविशील्ड वैक्सीन डोजेज में से करीब सत्तर लाख मार्च अंत तक देश में पहुंच जाएगी।

डॉक्टर सुल्तान ने कहा, ‘हालांकि ऐस्ट्राजेनेका भारत में तैयार हुई है लेकिन यह अंतरराष्ट्रीय संधि के तहत पाकिस्तान पहुंचेगी जिसने देश की करीब 20 फीसीदी आबादी को फ्री वैक्सीन देने की घोषणा की थी। DRAP (ड्रग रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ पाकिस्तान) ने पहले ही सिनोफर्म और ऐस्ट्राजेनेका के लिए रजिस्टर्ड किया था।’

संयुक्त राष्ट्र की कोवैक्स पहल के तहत भारत वैक्सीन की 1 करोड़ डोज बेचेगा। इसके साथ ही संयुक्त राष्ट्र दुनियाभर के अपने कर्मचारियों के लिए भी 4 लाख डोज खरीदेगा।