तहसीलदार साहब कहां हैं… गृह मंत्री ने 4 बार पुकारा, जवाब नहीं तो मंच से किया सस्पेंड

0
41

दतिया
एमपी में तहसीलदारों की कार्यशैली से सभी लोग अवगत हैं। तहसीलदारों की वजह से आए दिन सरकार की किरकिरी होती है। काम के बदले रिश्वत लेते हुए तहसीलदारों का वीडियो हमेशा वायरल होते रहता है। फिर काम के लिए लोगों को टरकाते रहते हैं। इसकी बानगी आज एमपी के के सामने भी देखने को मिली है।

एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का दतिया में कार्यक्रम था। कार्यक्रम के दौरान वह जनसुनवाई कर रहे थे। इस दौरान लोग अपनी शिकायत लेकर वहां पहुंचे थे। जनता की शिकायत पर उन्होंने स्थानीय तहसीलदार को कई बार पुकारा लेकिन गृह मंत्री के कार्यक्रम को वह हल्के में लेकर वहां से गायब था। उसके बाद मंच से ही उन्होंने उसे निलंबित करने की घोषणा कर दी।

दरअसल, गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा दतिया जिले की बड़ौनी तहसील में पात्रता पर्ची के वितरण कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पहुंचे थे। यहां पर कार्यक्रम के दौरान गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने मंच से ही माइक पकड़ कर 4 बार तहसीलदार को पुकारा था। उन्होंने पहले पूछा कि तहसील से कौन आया है। तहसीलदार कौन है, तहसीलदार आए हैं… तहसीलदार साहब कहां हैं… उसके बाद भी गृह मंत्री को कोई जवाब नहीं मिला। लेकिन तहसीलदार सामने नहीं आए।

गुस्से में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंच से ही तहसीलदार को निलंबित करने की घोषणा कर दी। निलंबन की घोषणा होने के बाद स्थानीय लोगों ने बताया कि तहसीलदार का नाम सुनील वर्मा है। तहसीलदार के निलंबन की बात सुनकर वहां मौजूद लोगों ने जमकर तालियां भी बजाई है। वहीं, गृह मंत्री ने फिर सीएमओ को काम के लिए निर्देश दिए हैं।