‘BJP को वोट नहीं देते हैं मियां मुस्लिम, यह बात अनुभव के आधार पर कह रहा हूं’

0
4

गुवाहाटी
असम में अगले तीन महीनों के भीतर विधानसभा चुनाव होने जा रहा है। चुनाव से पहले सभी पार्टियों की सक्रियता बढ़ गई है। कुछ दिन पहले असम के प्राइवेट मदरसों में आधुनिक शिक्षा व्‍यवस्‍था लागू करने की बात करने वाले मंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा ने फिर मुस्लिमों को लेकर बयान दिया है। शर्मा ने शनिवार को कहा कि ‘मियां मुस्लिम’ बीजेपी को वोट नहीं देते हैं। यह बात अनुभव के आधार पर कह रहे हैं। उन्होंने हमें पंचायत और 2014 के लोकसभा चुनाव में वोट नहीं दिया। बीजेपी को उन सीटों पर वोट नहीं मिलेगा, जो उनके (मियां मुस्लिम) हाथों में हैं, जबकि अन्य सीटें हमारी हैं।

पत्रकारों से वार्ता में हिमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि हम उन सीटों पर भी अपने उम्मीदवारों को मैदान में उतारेंगे ताकि ‘मियां मुस्लिम’ के साथ अपनी पहचान न रखने वाले लोगों को कमल (बीजेपी का प्रतीक) या हाथी (असम गण परिषद का चुनाव चिह्न) के लिए वोट करने का विकल्प मिले। गौरतलब है कि हिमंत बिस्वा शर्मा गुवाहाटी के जलुकबरी विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2001 से चार बार के विधायक हैं। उन्होंने बीजेपी में आने से पहले कांग्रेस के टिकट पर तीन बार इस सीट का प्रतिनिधित्व किया और 2016 में भगवा दल के टिकट पर भी जीत दर्ज की।

असम में बंद हो चुके हैं सरकारी मदरसे
इससे पहले भी हिमंत बिस्वा शर्मा कई बेबाक बयान दे चुके हैं। बंद करवाने में उनकी बड़ी भूमिका रही। उनका कहना था कि उनकी सरकार धार्मिक आधार पर दी जाने वाली शिक्षा के लिए सरकारी फंड्स नहीं खर्च करेगी। बता दें कि असम सरकार 614 मदरसों का संचालन करती थी। शर्मा का यह भी कहना है कि व‍ह प्राइवेट मदरसों में भी मार्डन शिक्षा व्‍यवस्‍था लागू करेंगे।