कल पश्चिम बंगाल दौरे पर आ रहे अमित शाह, फिर बढ़ेंगी तृणमूल कांग्रेस की दिक्‍कतें!

0
25

कोलकाता पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों को देखते हुए सभी राजनीतिक दलों की सक्रियता बढ़ गई है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह एक बार फिर 30 जनवरी को दो दिन के बंगाल दौरे पर आने वाले हैं। इस दौरान उनका अनेक जगहों पर कार्यक्रम है। अपने पिछले बंगाल दौरे पर शाह ने ममता बनर्जी सरकार को कई झटके दिए थे। टीएमसी के कई बड़े नेताओं ने अमित शाह की उपस्थिति में बीजेपी का दामन थाम लिया था। राजनीतिक गलियारों में एक बार फिर ऐसा कुछ होने की चर्चाएं तेज हो गई हैं।

30 जनवरी को कोलकाता आने के बाद अमित शाह सबसे पहले इस्‍कॉन मयुरपुर मंदिर जाएंगे। इसके बाद वह परगना जिले में ठाकुरनगर स्थित ठाकुरबारी मैदान में रैली को संबोधित करेंगे। बता दें कि उत्तर 24 परगना के अनेक विधानसभा क्षेत्रों में मतुआ समुदाय का प्रभुत्व है। इसके बाद शाम को वह बीजेपी की सोशल मीडिया टीम के साथ बैठक करेंगे। अगले दिन 31 जनवरी को वह अरविंदो भवन जाएंगे। इसके बाद भारत सेवाश्रम संघ के कार्यालय पहुंचेंगे। फिर हावड़ा में एक रैली को संबोधित करने जाएंगे। हावड़ा रैली में भाषण देने के बाद गृह मंत्री बागड़ी परिवार के साथ दिन का भोजन करेंगे। इसके बाद बेलुर मठ पहुंचेंगे। बैलूर मठ, रामकृष्‍ण मठ और रामकृष्‍ण मिशन का मुख्‍यालय है जिसे स्‍वामी रामकृष्‍ण परमहंस के महान शिष्‍य स्‍वामी विवेकानंद ने स्‍थापित किया था।

शाह के दौरे से पहले ममता के पूर्व मंत्री ने छोड़ी पार्टी
आपको बता दें कि अमित शाह इससे पहले गत नवंबर में बंगाल दौरे पर आए थे। उस दौरान और राज्य मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री का पद छोड़ने वाले प्रभावशाली नेता सुवेंदु अधिकारी, शीलभद्र दत्ता समेत कई असंतुष्‍ट नेताओं ने बीजेपी की सदस्‍यता ग्रहण कर ली थी। शाह के दौरे से एक दिन पहले ही ममता सरकार में पूर्व मंत्री रहे राजीव बनर्जी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। कुछ ही घंटे बाद उन्‍होंने टीएमसी छोड़ दी। इससे अटकलें तेज हो गई हैं कि वह जल्द ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।