भारत-सिंगापुर के रक्षा मंत्रियों ने किया पनडुब्बी बचाव सहयोग समझौता, चीन को गया बड़ा संदेश

0
17

नई दिल्ली
भारत और सिंगापुर के रक्षा मंत्रियों ने बुधवार को डिजिटल तरीके से वार्ता की जिसमें दोनों देशों की नौसेनाओं ने पनडुब्बी बचाव समर्थन तथा सहयोग पर समझौते पर दस्तखत किये। एक आधिकारिक वक्तव्य में यह जानकारी दी गयी। रक्षा मंत्रियों के पांचवें संवाद के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य में कहा गया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सिंगापुर के उनके समकक्ष एन ऐंग हेन ने समझौतों को जल्द अंतिम रूप दिये जाने की दिशा में पूरा समर्थन जताया।

बयान के अनुसार, ‘‘दोनों मंत्री दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच पनडुब्बी बचाव समर्थन एवं सहयोग पर समझौते के साक्षी बनकर प्रसन्न महसूस कर रहे हैं।’’ सिंह ने संवाद के बाद ट्विटर पर लिखा कि हेन के साथ यह सकारात्मक वार्ता रही और भारत को सिंगापुर जैसा रक्षा साझोदार होने का सौभाग्य प्राप्त है। उन्होंने कहा, ‘‘आज की वार्ता दोनों देशों को अनेक द्विपक्षीय विषयों पर लाभान्वित करेगी जिन पर हमारे विशेष संबंधों को और मजबूत करने के लिहाज से ध्यान दिया जा रहा है।’’

भारत का चीन को संदेश
भारत और सिंगापुर के बीच एक दूसरे की पनडुब्बी बचाने का समझौता होना चीन को संदेश है कि अगर दोनों देशों के बीच रिश्ते बिगड़ते हैं तो सिंगापुर की तरफ से भारत की मदद होगी। इससे चीन को संदेश जाता है कि भारत के खिलाफ साउथ चाइना सी में उनकी ताकत पहले की तुलना में कमजोर पड़ सकती है।