भारत की चीन को बिना नाम लिए सख्त चेतावनी, सम्मान को ठेस पहुंचाया तो खैर नहीं

0
19

बेंगलुरु
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन के साथ 8 महीने से चल रहे गतिरोध (India-China standoff at LAC) के बीच गुरुवार को कहा कि भारत युद्ध नहीं चाहता लेकिन यदि कोई ‘महाशक्ति’ देश के सम्मान को ठेस पहुंचाती है तो देश के सैनिक मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम हैं।

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘हम युद्ध नहीं चाहते और हम सभी की सुरक्षा के पक्ष में हैं लेकिन मैं स्पष्ट रूप से यह भी कहना चाहता हूं कि यदि कोई महाशक्ति हमारे सम्मान को ठेस पहुंचाना चाहती है तो हमारे जवान उन्हें मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम हैं।’

रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत कभी किसी देश के साथ संघर्ष नहीं चाहता और उसने अपने पड़ोसियों के साथ शांति और दोस्ताना संबंध रखने को प्राथमिकता दी है। उन्होंने बेंगलुरु में भारतीय वायु सेना की मुख्यालय प्रशिक्षण कमान में पांचवें सशस्त्र बल पूर्व सैनिक दिवस (Veterans Day) के मौके पर कहा, ‘भारत हमेशा अपने पड़ोसियों के साथ शांति और दोस्ताना संबंध चाहता है क्योंकि यह हमारे खून और संस्कृति में है।’

चीन के साथ गतिरोध का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय सैनिकों ने अनुकरणीय साहस और धैर्य दिखाया है और यदि इसे बयां किया जा सके तो हर भारतीय को गर्व होगा।

रक्षा मंत्री ने ‘पाकिस्तान की जमीन पर आतंकवादियों को ढेर कर देने’ का असाधारण साहस दर्शाने वाले भारतीय जवानों की भी तारीफ की। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत भी इस दौरान मौजूद थे।