किसिंग वीडियो से चर्चा में आए डॉक्टर, ‘प्रभु कृपा’ से बने CMHO तो कांग्रेस ने साधा निशाना

0
33

शाजापुर
अश्लील वीडियो कांड को लेकर सीएमएचओ एक बार फिर सुर्खियों में हैं। गुरुवार को कांग्रेस के कद्दावर नेता और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने ट्वीट कर उन्हें शाजापुर का सीएमएचओ बनाने के सरकार के फैसले पर सवाल खड़े किए हैं। यादव ने ट्वीट में लिखा है कि जिस डॉक्टर को कांग्रेस सरकार ने अश्लील वीडियो आने के बाद सस्पेंड किया था, उसे “प्रभु कृपा” ( स्वास्थ्य मंत्री प्रभुलाल चौधरी) के चलते शाजापुर में वरिष्ठ पद पर तैनात कर दिया गया है।

साल 2019 में डॉ राजू निदारिया उज्जैन के सरकारी अस्पताल में सिविल सर्जन पद पर कार्यरत थे। उस समय एक नर्स के साथ अश्लील वीडियो वायरल हुआ था, जो उनका बताया गया था। इसके बाद कांग्रेस शासन में उनको पद से हटाया गया था। उन्हें जिला अस्पताल शाजापुर में पदस्थ किया गया था, लेकिन अब उन्हें शाजापुर का सीएमएचओ बनाया गया है। अरुण यादव ने इसी चलते निदारिया के साथ स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी पर भी निशाना साधा है। यादव ने अपने ट्वीट में वायरल हुए “किस” कांड का वीडियो भी डाला है।

हालांकि, डॉ निदारिया का कहना है कि वह घटनाक्रम झूठा था। अगर सही होता तो उन पर कार्रवाई होती। उनका कहना है कि उन्हें सस्पेंड भी नही किया गया था। न ही किसी तरह की कार्रवाई हुई। बोले कि वह इस तरह की बातों पर ध्यान देने की बजाय जिम्मेदारी से अपना काम करने पर जोर देते हैं। इसी कारण उन्हें कई पुरस्कार और अवॉर्ड मिल चुके हैं।

इधर, गुरुवार को शाजापुर आए स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने इस मामले में कहा कि उस समय जांच हुई होगी। अब दोबारा मामले को दिखवाया जायेगा।