गाजियाबाद हादसा: नया था श्मशान घाट का वो बरामदा, 50 लाख का टेंडर लेने वाला फुर्र

0
5

गाजियाबाद
मुरादनगर श्मशान घाट पर हुए दर्दनाक हादसे में अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है। 15 लोगों का इलाज चल रहा है जिनमें 5 की हालत गंभीर बताई जा रही है। यह श्‍मशान घाट बेहद दयनीय हालत में था। इसका जीर्णोद्धार कराए जाने के लिए 50 लाख रुपये का टेंडर अजय त्यागी नाम के ठेकेदार को दिया गया था। जिस बरामदे का लिंटर भरभरा कर गिरा है, वह बरामदा भी इसी टेंडर के तहत 2 महीने पहले ही बना था। हादसे के बाद ठेकेदार फरार बताया जा रहा है।

नगर पालिका के चेयरमैन विकास तेवतिया ने बताया कि जिस तरह से यह लिंटर गिरा है, उससे साफ जाहिर है कि कहीं ना कहीं घटिया निर्माण सामग्री इस्तेमाल हुई है। यह खुद अपने स्तर से इसकी गहनता से जांच कराएंगे। उन्‍होंने बताया कि नगर पालिका की तरफ से इस श्‍मशान की चारदीवारी और सौंदर्यीकरण के लिए 50 लाख का टेंडर अजय त्‍यागी को दिया गया था। हाल ही में इस बरामदे का निर्माण इसी टेंडर के तहत हुआ था जहां का लिंटर गिरा है।

गहनता से कर रहे जांच: एसपी देहात
वहीं, गाजियाबाद के एसपी देहात डॉ आईराज राजा ने बताया कि मुरादनगर हादसे की गहनता से जांच की जा रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे और जिन लोगों की इसमें लापरवाही मिलेगी, उनके खिलाफ कड़ा ऐक्‍शन लिया जाएगा। गौरतलब है कि इस हादसे का संज्ञान लेते हुए यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने सभी मृतकों के परिवारवालों को दो-दो लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है।

पीएम मोदी ने जताया दुख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ‘उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दु:ख पहुंचा है। राज्य सरकार राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटी है। इस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजन के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’