J&K: साल के पहले दिन भारतीय चौकियों पर पाकिस्‍तान ने बरसाए गोले, सूबेदार शहीद

0
17

गोविंद चौहान, जम्मू
पाकिस्तान की तरफ से साल के पहले दिन ही राजौरी के में एलओसी की चौकियों को निशाना बनाकर फायरिंग की गई है। इस फायरिंग में भारतीय सेना का एक हो गया। इस तरफ से भी फायरिंग का माकूल जवाब दिया गया। पूरे इलाके में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। सेना के प्रवक्ता ने बताया कि सूबेदार रवींद्र बहादुर और गंभीर जवान थे। देश उनके सर्वोच्च बलिदान के लिए हमेशा उनकी ऋणी रहेगा।

जानकारी के अनुसार, पड़ोसी देश की तरफ से शुक्रवार शाम फायरिंग शुरू कर दी गई। पहले तो हल्के हथियारों से फायर किया गया, उसके बाद बड़े हथियार इस्तेमाल किए गए। इनकी चपेट में आकर नायब सूबेदार रवींद्र गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्‍हें तत्‍काल अस्‍पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान वह शहीद हो गए। पाकिस्तान को इस इलाके में फायरिंग का कड़ा जवाब दिया गया। काफी देर तक दोनों तरफ से फायरिंग जारी रही। उसके बाद पाक की तरफ से फायरिंग बंद हो गई।

2020 में 5100 बार हुआ संघर्ष विराम का उल्‍लंघन
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, जम्मू कश्मीर में 2020 में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के आसपास पाकिस्तान की ओर से 5,100 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया। ये पिछले 18 साल में संघर्ष विराम उल्लंघन के सर्वाधिक मामले हैं। आंकड़ों के अनुसार, संघर्ष विराम उल्लंघन की इन घटनाओं में 24 सुरक्षा कर्मी समेत 36 लोगों की मौत हो गई और 130 से अधिक लोग घायल हो गए।