तत्कालीन विदेश मंत्री स्वर्ण सिंह के साथ ये पाकिस्तानी महिला कौन है, पहचानिए..

0
52

नई दिल्ली
आज से करीब 48 साल पहले 3 जुलाई 1972 को भारत और पाकिस्तान के बीच ऐतिहासिक समझौता हुआ था, जिसे के नाम से जाना जाता है। यह फोटो शिमला समझौते के वक्त का है। जब जुल्फिकार अली भुट्टो अपनी बेगम के साथ शिमला आने वाले थे, लेकिन बीमार होने के कारण उन्होंने अपनी बेटी को शिमला चलने को कहा। फोटो में तत्कालीन के साथ जो लड़की आप देख रहे हैं वो बेनजीर भुट्टो हैं। उस समय वह महज 18-19 साल की थीं।

ट्विटर पर Indiahistorytopics यूजर ने यह फोटो शेयर की है।

पाकिस्तान की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं बेनजीर
बेनजीर किसी भी मुस्लिम देश की कमान संभालने वाली पहली महिला थीं। 1988 चुनाव में जीत हासिल कर वो प्रधानमंत्री बनी थीं। हालांकी उनका पहला कार्यकाल ज्यादा लंबा नहीं रहा था। 1990 में पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने उनकी सरकार को बर्खास्त कर दिया था। 27 दिसंबर, 2007 को हमलावर बिलाल ने एक धमाका किया था जिसमें बेनजीर की मौत हो गई थी। वो रावलपिंडी में एक चुनावी रैली से लौट रही थीं। हाल ही में 28 दिसंबर 2020 को पाकिस्तान में उनकी 13वीं पुण्यतिथि के अवसर पर विशाल रैली आयोजित की गई थी।

93,000 युद्धबंदियों को लौटाने का फैसला किया था भारत ने
1971 के भारत-पाक युद्ध में पाकिस्तान की शर्मनाक हार के बाद दोनों देशों के बीच 2 जुलाई, 1972 को शिमला में एक संधि हुई थी जिसे शिमला समझौता के नाम से जाना जाता है। इसमें भारत की तरफ से इंदिरा गांधी और पाकिस्तान की तरफ से जुल्फिकार अली भुट्टो शामिल थे। युद्ध के बाद दोनों देशों की ओर से रिश्ते में सुधार के लिए हिमाचल प्रदेश के शिमला में एक संधि पर हस्ताक्षर हुए। इस मौके पर 1971 के युद्ध से उत्पन्न हुए विषयों पर दोनों देशों के प्रमुख और उच्चस्तरीय अधिकारियों के बीच चर्चा हुई।

लेकिन बाज नहीं आया पाकिस्तान
इसके अलावा युद्ध बंदियों की अदला-बदली, पाकिस्तान द्वारा बांग्लादेश को मान्यता, भारत और पाकिस्तान के राजनयिक संबंधों को सामान्य बनाना, व्यापार फिर से शुरू करना और कश्मीर में नियंत्रण रेखा स्थापित करना जैसे मुद्दों पर भी बातचीत हुई थी। पाकिस्तान ने शिमला समझौते पर बस उस समय तक ही समझौता किया जब तक उसके युद्धबंदी लौट नहीं गए और कब्जा की गई जमीन वापस नहीं मिल गई। ये दोनों मकसद पूरे होने के बाद पाकिस्तान की पहले के जैसी हरकत पर उतर आया और अब तक उसकी वही हरकत जारी है यानी भारत में आतंकवाद को प्रोत्साहन देना और प्रॉक्सी वॉर शामिल है।