किसानों के साथ बातचीत से पहले सरकार ने बनाई रणनीति, अमित शाह की अगुवाई में अहम बैठक

0
62

नई दिल्ली
नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर किसान संगठन () डटे हुए हैं। सरकार और किसानों के बीच बुधवार 30 दिसंबर को अगले दौर की बातचीत होगी। इससे पहले केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ गृह मंत्री अमित शाह ने एक अहम बैठक की।

किसानों के साथ बातचीत से पहले सरकार ने बनाई रणनीति
सूत्रों ने बताया कि मंत्रियों की इस बैठक में इस बारे में चर्चा हुई कि बुधवार को किसानों के साथ होने वाली वार्ता में सरकार का क्या रुख रहेगा।किसानों के साथ बातचीत से पहले हुई यह बैठक काफी अहम है। बता दें कि सरकार की कोशिश रहेगी कि कृषि कानूनों पर जारी यह गतिरोध शीघ्र ही समाप्त हो।

किसान संगठनों ने सरकार के निमंत्रण को स्वीकारा
40 किसान संगठनों के संयुक्त किसान मोर्चा ने भी बातचीत के लिए सरकार के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। हालांकि किसान कानूनों को वापस लेने की अपनी मांग पर अड़े हुए हैं। संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार को लिखे पत्र में कहा, ‘बैठक के लिए हमारी ओर से भेजे गए प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए आपका धन्यवाद। 30 दिसंबर को दोपहर 2 बजे बातचीत के लिए आपका निमंत्रण हमें स्वीकार है।’

एक महीने से ज्यादा समय से प्रदर्शन कर रहे हैं किसान
केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर एक महीने से अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे हैं और वे संबंधित कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। सरकार और किसान संगठनों के बीच अब तक हुई 6 दौर की बातचीत बेनतीजा रही है। केंद्र ने गतिरोध को समाप्त करने के लिए कल होने वाली अगले दौर की वार्ता के लिए 40 किसान संगठनों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया है।