‘पहले डर रहे थे, फिर ठीक लगा’.. देश की पहली ड्राइवर-लेस मेट्रो ट्रेन शुरू, दिखा उत्साह और जोश

0
72

नई दिल्लीदिल्ली मेट्रो कॉरिडोर पर सोमवार को देश की पहली चालक रहित ट्रेन शुरू हो गई। इस दौरान युवाओं से लेकर बुजुर्ग यात्रियों के बीच गर्व, उत्साह समेत हैरानी का भाव दिखा। जनकपुरी पश्चिम स्टेशन से लेकर बोटैनिकल गार्डन स्टेशन के बीच 37 किलोमीटर लंबी ‘मैजेंटा लाइन’ पर भारत की पहली चालक रहित ट्रेन सेवा की शुरुआत करते हुए डीएमआरसी दुनिया के चुनिंदा मेट्रो नेटवर्क में शामिल हो गई है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली मेट्रो की ‘मैजेंटा लाइन’ पर भारत की पहली चालक रहित ट्रेन का उद्घाटन करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने पूर्ववर्ती सरकारों के विपरीत बढ़ते शहरीकरण को एक अवसर के रूप में लिया है। उन्होंने कहा कि 2025 तक 25 शहरों तक मेट्रो ट्रेन सेवाओं का विस्तार किया जाएगा। इस ट्रेन के शुरुआती यात्रियों में शामिल आरव (तीन) को जब उसके पिता ने बताया कि ट्रेन में कोई ड्राइवर नहीं है तो वह यह सुनकर काफी उत्साहित हो गया।

पढ़ें,

अपने परिवार और अन्य सहयात्रियों के बीच बच्चे ने कहा, ‘रिमोट कंट्रोल से ट्रेन चल रही है।’ ऑपरेशंस कंट्रोल सेंटर (ओसीसी) के जरिए ट्रेन का संचालन किया जा रहा है। हालांकि, शुरुआत में एक कर्मी मौजूद रहेगा लेकिन धीरे-धीरे यह ट्रेन स्वचालित तरीके से चलेगी। ज्यादातर यात्री इस नई ट्रेन से वाकिफ थे लेकिन मैजेंटा लाइन के अलग-अलग स्टेशनों से ट्रेन में सवार होने वाले कुछ यात्रियों को इस बारे में पता नहीं था।

दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा रिया शर्मा (18), गुरप्रीत कौर (17) और उनकी दोस्त काफी रोमांचित महसूस कर रही थीं। कौर ने कहा, ‘हां हमें इस चालक रहित ट्रेन के बारे में पता है और सुबह प्रधानमंत्री ने इसे रवाना किया था। केवल दिल्ली मेट्रो के लिए नहीं बल्कि देश की पहली के लिए हमें गर्व की अनुभूति हो रही है। हालांकि सामान्य मेट्रो ट्रेन से इसमें कुछ भी अलग नहीं है।’

उन्होंने कहा कि जबसे चालक रहित ट्रेन की खबर आई, उनके परिवार में इस पर काफी चर्चा हुई। अंग्रेजी साहित्य में स्नातक कर रहीं शर्मा ने कहा, ‘कोविड-19 के कारण लॉकडाउन लगने के बाद से मैं पहली बार यात्रा पर निकली हूं। मुझे अंदाजा नहीं था कि अब सीधे चालक रहित ट्रेन से सफर करूंगी। साज-सज्जा और मीडियाकर्मियों को देखने के बाद अहसास हुआ कि हम चालक रहित मेट्रो ट्रेन से यात्रा करने वाले हैं। रोमांचित हूं। शुरुआत में थोड़ी घबराहट हुई लेकिन फिर सामान्य हो गई।’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर लोगों को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘दिल्लीवासियों को मुबारक। दिल्ली मेट्रो में बिना ड्राइवर के स्वचालित ट्रेन चालू हो गई। आज आपकी ‘दिल्ली मेट्रो’ दुनिया के चुनिंदा शहरों में शामिल हो गई। अपनी दिल्ली तेजी से विकास कर रही है।’

शाहीन बाग के निवासी एस जे नैयर (60) अपनी पत्नी तैयबा नैयर के साथ दशरथपुरी स्टेशन पर सवार हुए। एस जे नैयर ने कहा, ‘मुझे बहुत गर्व महसूस हो रहा है और हमारे देश और दिल्ली मेट्रो के लिए यह बड़ी उपलब्धि है। हम 26 दिसंबर को शाहीन बाग से दशरथपुरी गए थे और वापसी में उसी मार्ग पर चालक रहित ट्रेन से यात्रा कर रहे हैं। यह एक नए युग में प्रवेश की तरह है।’

पीएम मोदी ने सोमवार सुबह वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए अपने संबोधन में कहा कि चालक रहित मेट्रो ट्रेन का उद्घाटन और ‘नैशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड’ को शुरू किया जाना शहरी विकास को भविष्य के लिये तैयार करने का प्रयास है। प्रधानमंत्री ने दिल्ली मेट्रो की ‘एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन’ पर ‘नैशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड’ सेवा की भी शुरुआत की।