ट्विटर पर ‘BKU नेता राकेश टिकैत का आपत्तिजनक वीडियो’ वायरल, उठी गिरफ्तारी की मांग

0
26

नई दिल्ली
(BKU) के प्रवक्ता राकेश टिकैत के एक बयान पर विवाद छिड़ गया है। सिंघु बॉर्डर पर जमे किसानों को संबोधित करते हुए उन्होंने मंदिरों और पुजारियों के लिए कुछ बातें कहीं जिनसे नाराज लोग ट्विटर पर ट्रेंड करवा दिया। राकेश टिकैत पर तरह-तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं। कोई उन्हें दोहरे विचारों का व्यक्ति कह रहा है तो कोई उन पर हिंदुओं और सिखों में फूट डालने की कोशिश करने का आरोप लगा रहा है। ट्विटर पर एक आवेदन भी वायरल हो रहा है जिसके जरिए राकेश टिकैत के खिलाफ पुलिस के पास शिकायत की गई है। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला और क्यूं गुस्से में हैं लोग…

कथित वीडियो में क्या बोल रहे हैं राकेश टिकैत
@iAnkurSingh ने राकेश टिकैत का एक वीडियो शेयर करते हुए दावा किया है कि टिकैत ने मंदिरों और पंडितों का अपमान किया है। उन्होंने लिखा, “भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत मंदिरों और पंडितों के खिलाफ बोल रहे हैं कि सबका हिसाब होगा। क्या आपको लगता है कि ये सारी मांगें किसानों की हैं? असली अजेंडा नफरत को हवा देना है। जब उन्हें बेनकाब करेंगे तो वो इन नफरत फैलाने वालों को आड़ देने के लिए आपको किसी बुजुर्ग की तस्वीर दिखा देंगे।”

‘राकेश टिकैत की पत्नी का वीडियो’ भी शेयर
ट्विटर हैंडल @Cjacksparrow_5 ने भी एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में एक महिला को राकेश टिकैत की पत्नी बताया जाता है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अपशब्द कहती सुनी जा सकती हैं। हालांकि, इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि नवभारत टाइम्स ऑनलाइन नहीं कर रहा है।

टिकैत के खिलाफ एफआईआर की मांग
@Netam2Netam ने राकेश टिकैत के खिलाफ शिकायत की कॉपी पोस्ट करते हुए दावा किया है कि मामले में एफआईआर दर्ज की जाएगी है। उन्होंने लिखा, “राकेश टिकैत ने हिंदुओं की भावना का बहुत अपमान किया है। उनके खिलाफ सेक्शन 295ए के तहत एफआईआर की जाएगी।”

टिकैत पर दोहरा चरित्र रखने का आरोप
वहीं, ट्विटर हैंडल @NitinSe65300540 ने कहा कि राकेश टिकैत की सचाई कुछ और ही है। उन्होंने लिखा, “यह है उनकी हकीकत। यूनियन के टिकैत का हिंदुओं और मंदिरों के खिलाफ नफरती भाषण।” उन्होंने नए कृषि कानूनों के समर्थन में टिकैत के बयानों से जुड़ी खबरें पोस्ट कर बताने की कोशिश की है कि राकेश टिकैत ने अपना स्टैंड बदल लिया है।

हिंदुओं-सिखों के बीच वैमनस्यता फैलाने का आरोप
@hariompandeyMP ने तो राकेश टिकैत पर दंगे कराने का गंभीर आरोप लगा दिया है। उन्होंने लिखा, “अब यह बिल्कुल स्पष्ट हो चुका है कि वो तथाकथित किसान नेता दिल्ली में हिंदू-सिख दंगे करवाना चाहते हैं। मजबूत बनिए और एकजुट रहिए। उनका समर्थन मत करिए।”

टिकैत पर विदेशी फंडिंग लेने का आरोप
@HarpaulBhau को लगता है कि राकेश टिकैत को देश में सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने के लिए विदेशी फंडिंग मिली है। उन्होंने भारतीय किसान यूनियन के ट्विटर हैंडल के साथ-साथ गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग करते हुए लिखा है, “राकेश टिकैत को किसान आंदोलन की आड़ में देश का माहौल खराब करने के लिए खालिस्तानी आतंकवादियों, माओवादी नेताओं और पाकिस्तानी से विदेशी फंडिंग मिल रही है। पूरा देश किसान कानूनों के समर्थन में है। इसलिए राकेश टिकैत को गिरफ्तार करो।”

किसान आंदोलन को लेकर केंद्रीय मंत्री भी लगा चुके हैं गंभीर आरोप
ध्यान रहे कि केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ कुछ किसान संगठन कई दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। तीनों कानूनों को निरस्त करने की मांग के साथ ये किसान दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर डटे हैं। राकेश टिकैत सिंघु बॉर्डर पर आंदोलन का नेतृत्व कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि यह वीडियो वहीं का है। बहरहाल, ध्यान रहे कि किसान आंदोलन की आड़ में देश में अलगाववाद को बढ़ावा देने और मोदी सरकार के खिलाफ साजिश रचने का आरोप कई कद्दावर केंद्रीय मंत्री तक लगा चुके हैं।