‘मन की बात’ में पीएम मोदी गिना सकते हैं कृषि कानूनों के फायदे, किसान ताली-थाली से करेंगे विरोध

0
73

नई दिल्लीप्रधानमंत्री आज यानी रविवार को दोपहर 11 बजे अपने रेडियो कार्यक्रम में देश को संबोधित करेंगे। पिछले करीब एक महीने से दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन के बीच ऐसी उम्मीद की जा रही है कि पीएम मोदी कृषि कानूनों और इससे जुड़े मुद्दों पर बात कर सकते हैं।

नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले एक महीने से कुछ राज्यों के किसान दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं। इसी बीच पीएम मोदी इन कानूनों पर सरकार की ओर से किए गए प्रयासों और उपायों की जानकारी देने के अलावा अपने विचार रख सकते हैं।

पढ़ें,

प्रधानमंत्री मोदी का यह इस रेडियो कार्यक्रम की सीरीज का इस साल का आखिरी कार्यक्रम होगा।

वहीं, किसानों ने पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम का ताली और थाली बजाकर विरोध करने का फैसला किया है। कुछ किसान संगठनों ने पहले ही कहा था कि वह इस कार्यक्रम का विरोध जताएंगे।

कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े आंदोलनकारी किसानों ने बातचीत की सरकार की पेशकश को शनिवार को स्वीकार कर लिया। आंदोनकारी 40 किसान यूनियनों के मुख्य संगठन संयुक्त किसान मोर्चा की एक बैठक में यह फैसला किया गया।

किसान नेताओं की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया गया। किसान नेताओं ने सरकार के साथ बातचीत के लिए 29 दिसंबर को सुबह 11 बजे का वक्त तय किया है। जगह के रूप में दिल्ली के विज्ञान भवन को चुना गया है। इससे पहले सरकार ने किसानों से बातचीत की अपील करते हुए उन्हें अपनी पसंद के समय और जगह तय करने को कहा था।