जयंती विशेषः अटल बिहारी वाजपेयी की वे उपलब्धियां जिनसे मजबूत हुआ भारत

0
60

आज देश के पूर्व पीएम और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती हैं। बीजेपी सरकार अटल बिहारी के जन्मदिवस को सुशासन दिवस के रूप में मनाती है। उनकी जयंती के मौके पर हम अटल बिहारी की उन उपलब्धियों (achievements of atal bihari) का जिक्र करेंगे जिनसे भारत मजबूत हुआ। इससे आपको यह समझने में आसानी होगी कि आखिर अटल बिहारी के जन्मदिवस के सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाना क्यों सही है।
Atal Bihri Birthday: आज देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 96वीं जयंती है। इस मौके पर हम आपको उनकी वे उपलब्धियों (achievements of atal bihari) को बता रहे हैं जिनसे भारत मजबूत हुआ।
आज देश के पूर्व पीएम और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती हैं। बीजेपी सरकार अटल बिहारी के जन्मदिवस को सुशासन दिवस के रूप में मनाती है। उनकी जयंती के मौके पर हम अटल बिहारी की उन उपलब्धियों (achievements of atal bihari) का जिक्र करेंगे जिनसे भारत मजबूत हुआ। इससे आपको यह समझने में आसानी होगी कि आखिर अटल बिहारी के जन्मदिवस के सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाना क्यों सही है।
पोखरण में भारत का परमाणु परीक्षणसाल 1998, प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने राजस्थान के पोखरण में परमाणु परीक्षण कर दुनिया को चौंका दिया था। अचानक किए गए इन परमाणु परीक्षणों से अमेरिका, पाकिस्तान समेत कई देश दंग रह गए थे। पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की अगुआई में यह मिशन कुछ इस तरह से अंजाम दिया गया कि अमेरिका समेत पूरी दुनिया को इसकी भनक तक नहीं लगी। अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA भारत पर नजर रखे हुए थी और उसने पोकरण पर निगरानी रखने के लिए 4 सैटलाइट लगाए थे। हालांकि भारत ने CIA और उसके सैटलाइटों को चकमा देते हुए परमाणु परीक्षण कर दिया। हालांकि एक कार्यक्रम के दौरान अटल बिहारी ने इस परमाणु परीक्षण का श्रेय पूर्व पीएम नरसिम्हा राव को दिया था जो उनकी उदार हृदयता का परिचय देता है।
स्वर्णिम चतुर्भुज और ग्राम सड़क योजनावाजपेयी की सबसे बड़ी उपलब्धियों में उनकी महत्वाकांक्षी सड़क परियोजनाओं स्वर्णिम चतुर्भुज और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना को सबसे ऊपर रखा जाता है। स्वर्णिम चतुर्भुज योजना ने चेन्नै, कोलकाता, दिल्ली और मुंबई को हाईवे नेटवर्क से कनेक्ट किया, जबकि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के जरिए गांवों को पक्की सड़कों के जरिए शहरों से जोड़ा गया। ये योजनाएं सफल रहीं और देश के आर्थिक विकास में मदद मिली।
सर्व शिक्षा अभियानसर्व शिक्षा अभियान को अटल बिहारी की सरकार के दौरान 2001 में लॉन्च किया गया था। इस योजना के तहत 6 से 14 साल के बच्चों को मुफ्त में शिक्षा दी जानी थी। इस योजना के लॉन्च के 4 सालों के अंदर ही स्कूल से बाहर रहने वाले बच्चों की संख्या में 60 प्रतिशत की गिरवाट देखने को मिली थी।
टेलिकॉम सेक्टर में क्रांतिवाजपेयी सरकार ही अपनी नई टेलिकॉम पॉलिसी के तहत टेलिकॉम फर्म्स के लिए एक तय लाइसेंस फीस हटाकर रेवन्यू शेयरिंग की व्यवस्था लेकर लाई थी। भारत संचार निगम का गठन भी पॉलिसी बनाने और सर्विस के प्रविश़न को अलग करने के लिए इस दौरान किया गया था। वाजपेयी की सरकार ने अंतरराष्ट्रीय टेलिफोनी में विदेश संचार निगम लिमिटेड के एकाधिकार को पूरी तरह खत्म कर दिया था।
करगिल युद्ध में विजयअटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान हुए करगिल युद्ध में भारत ने विजय हासिल की और दुनिया को यह संदेश दिया कि भारत झुकने वालों में से नहीं है। अटल सरकार ने करगिल शहीदों के लिए मुआवजे की घोषणा की। साथ ही शहीद सैनिकों के अंतिम संस्कार को सार्वजनिक तौर पर करने का फैसला लिया। इन चीजों का अंतरराष्ट्रीय दबाव बना। तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ को समन किया था और उन्हें सेना हटाने का आदेश दिया था।