‘मिशन बंगाल’ के लिए शाह ने उतार दी अपनी टीम, देखिए किन चेहरों पर किया भरोसा

0
9

2021 में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के लिए सभी दल तैयारियों में जुटे हैं। यहां मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) बनाम तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) बना हुआ है। हाल ही में जब बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय यहां पहुंचे तो उनके काफिले पर हुआ। इसके बाद दोनों दलों के बीच जंग और तेज हो गई है। पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह इस हफ्ते के आखिर में पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने मंत्रियों की एक टीम बनाई है, जो पश्चिम बंगाल का दौरा कर यहां बीजेपी के पक्ष में सियासी जमीन को मजबूत करेगी। इस टीम के खास चेहरों के बारे में जान लेते हैं।
West Bengal Assembly Election 2020: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में सियासी जमीन मजबूत करने के इरादे से अमित शाह ने खास नेताओं की एक टीम तैयार की है। इस टीम में कौन-कौन शामिल हैं। आइए तस्वीरों के जरिए जान लेते हैं।
2021 में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के लिए सभी दल तैयारियों में जुटे हैं। यहां मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) बनाम तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) बना हुआ है। हाल ही में जब बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय यहां पहुंचे तो उनके काफिले पर हुआ। इसके बाद दोनों दलों के बीच जंग और तेज हो गई है।
पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह इस हफ्ते के आखिर में पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने मंत्रियों की एक टीम बनाई है, जो पश्चिम बंगाल का दौरा कर यहां बीजेपी के पक्ष में सियासी जमीन को मजबूत करेगी।
इस टीम के खास चेहरों के बारे में जान लेते हैं।
गजेंद्र सिंह शेखावतगजेंद्र सिंह शेखावत का जन्म राजस्थान में 3 अक्टूबर 1967 को हुआ था। वह वर्तमान में मोदी सरकार में जल संसाधन मंत्री हैं। वर्ष 2019 में मोदी सरकार की ओर से गजेंद्र सिंह शेखावत को जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। शेखावत का राजनीतिक करियर 1992 में छात्र नेता के रूप में शुरू हुआ था। उन्हें जेएनवीयू में छात्रसंघ का अध्यक्ष चुना गया था। शेखावत ने वर्ष 2014 लोकसभा चुनाव में 4 लाख से ज्यादा मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी। उन्होंने जोधपुर से चुनाव लड़ा था। यही नहीं, गजेंद्र सिंह शेखावत ने वर्ष 2019 में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को 2.74 लाख मतों से शिकस्त दी थी।
संजीव बालियानसंजीव बालियान वेस्ट यूपी में किसान नेता के तौर पर बड़ी तेजी से उभरे। उनका जन्म 23 जून, 1972 को मुजफ्फरनगर जिले के कुटबी गांव में सुरेंद्र पाल सिंह के यहां हुआ। पत्नी का नाम सुनीता बालियान है। संजीव बालियान ने हरियाणा ऐग्रिकल्चर यूनिवर्सिटी में पशु चिकित्सा विज्ञान में डॉक्टरेट की उपाधि हासिल की है। उन्होंने सहायक प्रोफेसर और हरियाणा सरकार के साथ एक पशु चिकित्सा सर्जन के तौर पर काम किया। संजीव बालियान 2014 के लोकसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रत्याशी कादिर राणा को मुजफ्फरनगर से हराकर पहली बार संसद बने। 2014 में उन्हें एनडीए सरकार में कृषि और खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री बनाया गया। जुलाई 2016 में राज्यमंत्री जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प बनाया गया। सितंबर 2017 में उनको मंत्री पद से हटा दिया गया। 2019 में संजीव बालियान ने आरएलडी के प्रत्याशी अजित सिंह को शिकस्त दी थी। वह मोदी सरकार में राज्य मंत्री हैं।
प्रह्लाद सिंह पटेल28 जून 1960 को मध्य प्रदेश में जन्मे प्रह्लाद सिंह पटेल दमोह सीट से बीजेपी सांसद हैं। वह मोदी सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री भी हैं।
अर्जुन मुंडाअर्जुन मुंडा मोदी सरकार में मंत्री हैं। वह तीन बार झारखंड के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। 1995 में पहली बार खरसावां से विधायक बने मुंडा ने 2014 में जमशेदपुर संसदीय चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया। इसके बाद विधानसभा चुनाव हुआ, वह खरसावां सीट से चुनाव हार गए। 2019 लोकसभा चुनाव में खूंटी से पूर्व सांसद करिया मुंडा का टिकट काटकर अर्जुन मुंडा को टिकट दिया गया, जिसमें उन्होंने महज 1445 वोटों से जीत दर्ज की।
मनसुख मांडवियागुजरात से राज्यसभा सांसद मनसुख लाल मांडविया मोदी सरकार में मंत्री हैं। करोड़ों की संपत्ति होने के बावजूद उन्हें सादगी पसंद नेताओं में गिना जाता है। मनसुख मांडविया राष्ट्रपति भवन में मंत्री पद की शपथ लेने साइकल से ही पहुंचे थे।
केशव प्रसाद मौर्यकेशव प्रसाद मौर्य उत्तर प्रदेश सरकार में उपमुख्यमंत्री हैं। केशव प्रसाद मौर्य को संगठन की भी बहुत गहरी जानकारी है। वह उत्तर प्रदेश बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। इससे पहले केशव प्रसाद मौर्य फूलपूर सीट से सांसद भी रह चुके हैं।
नरोत्तम मिश्रानरोत्तम मिश्रा को मध्य प्रदेश की सियासत का अहम चेहरा माना जाता है। उनकी शिवराज सरकार में नंबर दो की हैसियत है। दतिया सीट से विधायक नरोत्तम मिश्रा के पास गृह और स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी है।
…तब शाह करेंगे रणनीति पर चर्चासूत्रों ने बताया कि शाह 19 दिसंबर को इन सभी नेताओं के साथ एक बैठक करेंगे और आगे की रणनीति पर चर्चा करेंगे। शाह इस सप्ताहांत दो दिवसीय बंगाल दौरे पर रहेंगें। इस दौरान वह एक राजनीतिक सभा को संबोधित करेंगे और मिदनापुर जिले में एक किसान के घर दोपहर का भोजन करेंगे।
पढ़ें: बिहार में दोस्ती, बंगाल में ‘बैर’… 75 सीटों पर चुनाव लड़कर बीजेपी को क्या मेसेज देना चाहती है जेडीयू?