भारत पर हमले की फिराक में रोहिंग्या आतंकी, जाकिर नाइक से जुड़ रहा कनेक्शन

0
47

राजशेखर, नई दिल्ली
मलयेशिया का भारत में हमले की फिराक में है। सुरक्षा एजेंसियों को मिले इनपुट्स के अनुसार भारत पर हमले में यह आतंकी संगठन किसी महिला का इस्तेमाल भी कर सकता है। भारतीय खुफिया एजेंसियों को कुछ ऐसे वित्तीय लेन-देन का पता चला है, जिनका संबंध फरार इस्लामिक प्रचारक से है।

म्यांमार में ट्रेन की गई महिला के नेतृत्व में हो सकता हैआतंकी हमला
खुफिया एजेंसियां इनपुट्स के आधार पर मान रही हैं कि रोहिग्याओं से जुड़ा एक आतंकी संगठन भारत पर हमले की तैयारी कर रहा है। इनपुट्स के अनुसार महिला के नेतृत्व वाला एक आतंकी ग्रुप, जिसे म्यांमार में ट्रेनिंग दी गई है, अगले कुछ हफ्तों में भारतीय शहरों को निशाना बना सकता है।

जाकिर नाइक से जुड़ रहा लिंक, कई राज्यों को किया गया अलर्ट
सूत्रों के अनुसार शुक्रवार शाम को खुफिया एजेंसियों ने इस संबंध में कई राज्यों को आगाह किया। दिल्ली, हरियाणा, यूपी, बिहार और पश्चिम बंगाल की पुलिस और खुफिया एंजेंसियों को इस संबंध में अलर्ट किया गया है। हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के हाथ कुछ ऐसे डॉक्युमेंट्स लगे हैं, जिनमें 2 लाख डॉलर के एक ट्रांजैक्शन का पता चला है। इस ट्रांजैक्शन का संबंध भारत से है और इसका लिंक विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक और कुआलालांपुर के रोहिंग्या लीडर मोहम्मद नसीर के बीच जुड़ रहा है।

चेन्नै के हवाला ऑपरेटर के पास पहुंचा पैसा
आगे की जानकारी के मुताबिक इस ट्रांजैक्शन का कुछ हिस्सा एक चेन्नै के एक संदिग्ध के पास पहुंचा है। माना जा रहा है कि यह शख्स हवाला डीलर है। खुफिया जानकारी के अनुसार भारत पर हमले की फिराक में जुटा आतंकियों का यह समूह दिसंबर के मध्य या अंत तक बांग्लादेश के रास्ते भारत आ सकता है।

पीएफआई के लोग कर सकते हैं आतंकियों की मदद
हमले की योजना में शामिल महिला की पहचान अभी नहीं हो पाई है, लेकिन सूत्रों के अनुसार ऐसा अनुमान है कि महिला को इसी साल मलयेशिया से म्यांमार ट्रेनिंग के लिए भेजा गया था। राज्यों को भेजे गए अलर्ट में खासतौर पर अयोध्या, बोधगया, पंजाब और श्रीनगर का जिक्र है। एजेंसियों को आशंका है कि पीएफआई से जुड़े कुछ लोग इस समूह को लॉजिस्टिक्स से मदद कर सकते हैं।

2016 से भारत से फरार है जाकिर नाइक
खुफिया एजेंसियों यह पता लगाने कि कोशिश कर रही हैं कि क्या पिछले साल मलयेशियां में रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए धन जुटाने की वजह से नजर में आया रोहिंग्या आतंकियों का संगठ इस ट्रांजैक्शन में शामिल है या नहीं। आपको बता दें कि विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक पर मनी लॉन्ड्रिंग समेत कई गंभीर आरोप हैं और वह 2016 से ही भारत से फरार चल रहा है। फिलहाल नाइक ने मलयेशिया में शरण ले रखी है।