दिल्ली में कम बारिश ने बढ़ाया प्रदूषण, आज से और बिगड़ेंगे हालात

0
35

नई दिल्ली
वेस्टर्न डिस्टरबेंस और शनिवार सुबह हुई बारिश के बावजूद प्रदूषण से राहत नहीं मिली। आज से प्रदूषण बढ़ने की संभावना है। आमतौर पर सर्दियों की बारिश प्रदूषण से राहत लेकर आती है। उम्मीद भी ऐसी ही की जा रही थी। विशेषज्ञों के अनुसार, बारिश कम हुई, जिसने प्रदूषण पर विपरीत असर किया। हवा में नमी बढ़ गई और इसकी वजह से जो प्रदूषक उपर की तरफ थे, वह भी शाम तक नीचे आ गए। बहुत अधिक नमी होने से फॉग और फिर स्मॉग बना।

सीपीसीबी के एयर बुलेटिन के अनुसार, राजधानी में शनिवार को एयर क्वॉलिटी इंडेक्स () 356 दर्ज किया गया। सुबह सात बजे यह 346 दर्ज किया गया था। बारिश की वजह से संभावना थी कि दिन के समय इसमें कुछ कमी आएगी। एनसीआर के कुछ शहरों में तो हालात दिल्ली से भी खराब रहे। गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा गंभीर स्तर पर पहुंच गए।

फरीदाबाद का एक्यूआई 348, गाजियाबाद देश में सबसे प्रदूषित 415, ग्रेटर नोएडा 404, गुरुग्राम 296, नोएडा 393, बुलंदशहर और बागपत में 402 रहा। सफर के अनुसार, प्रदूषण का स्तर बेहद खराब स्तर पर रहा। शुक्रवार की तुलना में इसमें कुछ बढ़ोतरी हुई है। वेस्टर्न डिस्टरबेंस के प्रभाव से जमीनी सतह पर हवाएं काफी कम रफ्तार की चल रही हैं।

बारिश पर्याप्त नहीं हुई, जो पहले से मौजूद प्रदूषकों को धो सके। बारिश ने हवा में नमी बढ़ा दी। इसकी वजह से प्रदूषकों को पानी में ठहरने की जगह मिली और वह उपरी सतह पर जम गए हैं। इसकी वजह से रविवार सुबह घना कोहरा छाएगा और प्रदूषण में अधिक इजाफा होगा। विशेषज्ञों के अनुसार, बारिश का होना ही नहीं, बल्कि बारिश का पर्याप्त होना जरूरी है।