कभी भी फेल हो सकती है लालू प्रसाद यादव की किडनी, डॉक्टरों ने सरकार को भेजी रिपोर्ट

0
8

रांची
चारा घोटाले में सजायाफ्ता राजद (RJD) सुप्रीमो () की तबीयत में फिर से गिरावट आ गई है। रांची के रिम्स (RIMS) के पेइंग वार्ड में इलाजरत लालू यादव की किडनी (Lalu Yadav’s kidney) का क्रिएटिनिन लेबल लगातार बढ़ रहा है। लालू की किडनी 25 फीसदी ही काम कर रही है। शनिवार को लालू के इलाज में लगे डॉक्टर उमेश प्रसाद यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि अगले कुछ दिनों तक स्थिति ऐसी ही रही तो लालू यादव को डायलिसिस कराने की जरूरत पड़ सकती है।

लालू का इलाज कर रहे डॉ. उमेश प्रसाद (Dr. Umesh Prasad) ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से लालू प्रसाद बहुत चिंतित और परेशान हैं। उनकी किडनी 25% फंक्शन कर रही है। ऐसे में कभी भी उनकी किडनी काम करना बंद कर सकती है। हमने लिखित में इस बारे में रिम्स के उच्च पदाधिकारी और सरकार को सूचना दे दी है।

यह भी पढ़ें-

रिम्स में एडमिट होते वक्त 53 प्रतिशत काम कर रही थी लालू का किडनीडॉक्टर के मुताबिक, लालू यादव का ब्लड शुगर भी बढ़ा है। इसलिए उन्हें अच्छे इलाज की जरूरत है। उमेश यादव ने कहा कि अगर जरुरत पड़ती है तो लालू यादव के इलाज के लिए बाहर से भी डॉक्टर बुलाया जा सकता है। जानकारी के मुताबिक, रिम्स में एडमिट होते वक्त लालू का किडनी 53 प्रतिशत काम कर रही थी, लेकिन अब मात्र 25 प्रतिशत की किडनी काम कर रही है। बीते दो सालों में किडनी के काम करने की दरों में काफी गिरावट आई है।

RJD अध्यक्ष की तबीयत में गिरावट की खबर सुनकर मिलने आया था: सुबोधकांत सहाय
पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने रिम्स में लालू प्रसाद से शनिवार को मुलाकात की। इसके बाद बाद पत्रकारों से बात करते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि आरजेडी अध्यक्ष की तबीयत में गिरावट की खबरों को सुनकर वे उनके स्वास्थ्य का हाल जानने पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि बिहार विधानसभा चुनाव में 18 से 20 सीटों पर काफी कम वोटों के अंतर से महागठबंधन के प्रत्याशियों की हार हुई, इस दौरान पुनर्मतगणना का भी आग्रह किया गया, जिसे स्वीकार नहीं किया गया, चार घंटे तक कई क्षेत्रों में मतगणना रोकर एनडीए उम्मीदवारों की जीत की घोषणा कर दी गई।

यह भी पढ़ें-

आरजेडी विधायक बोले- अपने नेता का आशीर्वाद लेने आए थे
वहीं लालू प्रसाद से मुलाकात के बाद आरजेडी विधायकों ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि चुनाव जीतने के बाद वे अपने नेता का आशीर्वाद लेने पहुंचे, उनकी तबीयत के बारे में भी जानकारी ली और मार्गदर्शन लिया। आरजेडी विधायकों ने साफ किया कि पार्टी के भावी कार्यक्रमों को लेकर लालू प्रसाद से चर्चा की और इस मुलाकात का कोई विशेष राजनीतिक महत्व नहीं है।