हैदराबाद: भारत बायोटेक लैब पहुंचे 64 देशों के राजनयिक, देसी कोरोना वैक्सीन को मिलेंगे खरीदार?

0
22

ब्रिटेन में कोरोना का टीका लगना जहां शुरू हो गया है, वहीं भारत सहित दुनिया के कई देशों में यह टीका अपने अंतिम चरण में है। भारत में तीन दवा कंपनियों ने नियामक एजेंसी से कोविड टीके के आपात इस्तेमाल की अनुमति मांगी है। इस बीच, बुधवार को नई दिल्ली से 64 देशों के राजनयिक हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक और बायोलाजिकल ई लिमिटेड का दौरा करने पहुंचे।

भारत बायोटेक के अधिकारियों ने राजदूतों को लैब का टूर कराया और के डिवेलपमेंट के बारे में जानकारी दी। भारत में तीन दवा निर्माता कंपनियां कोविड-19 का टीका विकसित कर रही हैं। इससे पहले भारत सरकार ने गत छह नवंबर को राजदूतों को कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए अपने द्वारों उठाए जा रहे कदमों की जानकारी थी।

इन देशों के राजनयिक शामिल
हैदराबाद के लिए रवाना होने वालों में ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क, ईरान, भूटान, ब्राजील, म्यांमार, स्लोवेनिया, ट्रिनिडाड एवं टोबैगो, दक्षिण फोरिया, अफगानिस्तान, श्रीलंका और अन्य देशों के राजनयिक एवं राजदूत शामिल हैं।

देसी वैक्सीन को मिलेंगे खरीदार?
इस दौरे के सहारे भारत की कोशिश जहां अपनी वैक्सीन उत्पादन क्षमताओं की बानगी दिखाने की होगी वहीं देसी कोविड-19 टीकों के लिए बाजार तलाशने का भी प्रयास होगा। इस दौरे की तैयारियों से जुड़े एक अधिकारी के मुताबिक इस तरह के दौरे के सहारे स्वाभाविक रूप से इस बात की कोशिश होगी कि अफ्रीका, दक्षिण-पूर्व एशिया और मध्य एशिया के मुल्कों में भारतीय टीकों के लिए सम्भावित खरीदारी मिल सकें।