किसानों के ‘भारत बंद’ का कांग्रेस ने किया सपोर्ट, पर सीएम गहलोत के भाई ने खोली अपनी दुकान

0
10

जोधपुर
कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों () ने मंगलवार को भारत बंद बुलाया। जिसका कई विपक्षी पार्टियों ने समर्थन किया। राजस्थान कांग्रेस ने भी बंद के समर्थन में आवाज बुलंद की। हालांकि, जोधपुर (Jodhpur) में बंद का खास असर देखने को नहीं मिला। जहां कई दुकानें और प्रतिष्ठान खुले रहे, वहीं राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के भाई और उनके करीबी मित्र ने अपनी दुकानें खुली रखीं।

मुख्यमंत्री के भाई और अजीज दोस्त ने नहीं किए प्रतिष्ठान बंद
राजस्थान कांग्रेस और कई और संगठनों ने बंद का समर्थन किया। सुरक्षा व्यवस्थाओं का हवाला देकर रोडवेज बसों को दिन में दो बजे तक बंद रखा गया। वहीं व्यापार महासंघ ने स्वयं को बंद से अलग रखते हुए अपने प्रतिष्ठान खुले रखने का फैसला किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई कंवरसेन जो कि एक उर्वरक व्यापारी हैं उन्होंने भी अपनी दुकान खोली। सीएम गहलोत के करीबी मित्र रघुराज सेन जो कि एक सैलून चलाते हैं उन्होंने भी अपनी दुकान बंद नहीं की।

इसे भी पढ़ें:-

बंद का दिखा कितना असर
सबसे खास बात ये है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का चुनावी कार्यालय उनके भाई कंवर सेन की दुकान पर ही मौजूद है। अशोक गहलोत हर चुनाव में पहली चुनावी सभा यही करते हैं। भले ही सीएम के भाई और दोस्त की दुकानें खुली रहीं, लेकिन मंडियों की अधिकंश दुकानें दोपहर तक बंद रहीं। साथ ही रोडवेज की बसों का संचालन भी दोपहर बाद ही हो सका। इससे पहले शहर में सुबह जल्दी खुलने वाली सभी दुकानें भी खुली नजर आईं। सड़कों पर भी रोजमर्रा जैसी ही हलचल दिखाई दी।

शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस रही तैनात
बंद की घोषणा को लेकर शहर के हर चौराहे और चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात रही। पुलिस विभाग ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए 800 पुलिसकर्मी तैनात किए। पुलिस ने पहले ही चेतावनी दे दी थी कि जबरन किसी को दुकान या बाजार बंद नहीं करवाया जाए। अधिकांश प्रमुख व्यापारिक संगठनों ने बाजार बंद नही करने का ऐलान पहले ही कर दिया था। त्रिपोलिया बाजार मोती-चौक व्यापार संघ के अध्यक्ष दीपक सोनी, सचिव दिलीप जैन ने सदर बाजार थानाधिकारी बंशीलाल को ज्ञापन सौंपकर बाजार बंद नहीं करने जानकारी दी। साथ ही व्यापारियों का सहयोग कर पुख्ता सुरक्षा इंतजाम की अपील की।