आंध्र प्रदेश में नाबालिग जोड़े ने की क्लासरूम में शादी! सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

0
5

हैदराबाद
आंध्र प्रदेश के जिले में ‘बाल विवाह’ का हैरानी भरा मामला सामने आया है। जिले के इलाके के एक स्कूल में एक छात्र ने क्लासरूम में अपनी प्रेमिका से शादी कर ली। छात्र ने छात्रा को मंगलसूत्र पहनाकर सिंदूर से उसकी मांग भी भरी। दोनों छात्र-छात्रा नाबालिग हैं और इंटरमीडिएट में पढ़ते हैं। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो हड़कंप मच गया। पुलिस ने बाल विवाह निषेध अधिनियम, 2006 के तहत मामला दर्ज किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दोनों छात्र-छात्रा ईस्ट गोदावरी जिले के रजा महेंद्रवरम इलाके के एक स्कूल में पढ़ते हैं। ये दोनों कथित तौर पर बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड-हैं। दोनों एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे। लड़के की उम्र 17 साल है।

दोस्तों ने बनाया वीडियो और सोशल मीडिया पर हुआ वायरल
रिपोर्ट्स के अनुसार, छात्र ने लड़की के लिए बाज़ार से मंगलसूत्र और सिंदूर खरीदा और स्कूल पहुंच गया। इस दौरान लड़की क्लास में थी। लड़के ने लड़की को पहले मंगलसूत्र पहनाया और इसके बाद उसकी मांग में सिन्दूर भी भरा। इस दौरान लड़के के कुछ दोस्तों ने इसका वीडियो भी बनाया। इस शादी का पता तब चला जब इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

लड़की को आश्रय देगा महिला आयोग
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लड़के और लड़की की काउंसलिंग की गई। पुलिस जांच कर रही थी कि कक्षा में नाबालिगों का विवाह किसने किया था। उधर, की चेयरपर्सन वासीरेड्डी पद्मा ने कहा कि दूल्हा और दुल्हन, इंटरमीडिएट में पढ़ने वाले सहपाठी हैं। उन्होंने कहा कि आयोग नाबालिग लड़की को आश्रय देगा।

दोनों को स्कूल से निकाला
उधर, घटना के बारे में पता चलने के बाद स्कूल के प्रबंधन ने दोनों छात्र-छात्रा को स्कूल से निकाल दिया है और उन्हें ट्रांसफर सर्टिफिकेट दे दिया।

लड़की के माता-पिता ने नहीं दी घर में जगह महिला आयोग की चेयरपर्सन वासीरेड्डी पद्मा ने कहा कि लड़की के माता-पिता ने उसे घर लौटने की अनुमति देने से इनकार कर दिया। काउंसलिंग के लिए लड़की को वन स्टॉप सेंटर में भेज दिया गया है। महिला आयोग के सदस्यों ने लड़के के माता-पिता से भी बात की और उनकी काउंसलिंग की।

पुलिस ने दर्ज किया केस इस बीच, राजामहेंद्रवरम टू टाउन पुलिस ने इस प्रकरण पर केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि हम दोनों नाबालिगों, उनके परिवार के सदस्यों और कॉलेज प्रबंधन के बयान दर्ज करेंगे। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, पुलिस सभी के लिए बाल विवाह के परिणामों की व्याख्या करेगी।