भारतीय सेना ने लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की याद में शुरू किया अवॉर्ड, आतंकियों ने अगवा कर की थी हत्या

0
51

नई दिल्ली
() ने कश्मीर के युवा सैन्य अधिकारी () की याद में एक अवॉर्ड शुरू किया है। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि फैयाज की स्मृति में इस साल से ‘कमांडेंट्स मोटिवेशन अवॉर्ड’ शुरू किया गया है। ये अवॉर्ड राजपूताना राइफल्स ने शुरू किया है, जो भारतीय सेना की सबसे पुरानी राइफल रेजीमेंट में से एक है। इससे पहले साल 2017 में इनके नाम पर सेना ने अपने एक गुडविल स्कूल का भी नामकरण किया था।

फैयाज की स्मृति में ‘कमांडेंट्स मोटिवेशन अवॉर्ड’
सेना के एक अधिकारी ने कहा, ‘लेफ्टिनेंट उमर फैयाज का जीवन और सर्वोच्च बलिदान आज के युवा, खासतौर पर घाटी के ग्रामीण इलाकों के नौजवानों को भारतीय सशस्त्र बलों में शामिल होने की प्रेरणा देता है।’ फैयाज की स्मृति में इस साल से ‘कमांडेंट्स मोटिवेशन अवॉर्ड’ शुरू किया गया है। अधिकारी ने बताया कि इस साल का पुरस्कार पुणे के पास खड़गवासला स्थित राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) में 139वें एनडीए पाठ्यक्रम के कैडेट विजय बहादुर को प्रदान किया गया।

इसे भी पढ़ें:-

22 वर्षीय फैयाज की आतंकियों ने अगवा कर की थी हत्या
22 वर्षीय लेफ्टिनेंट फैयाज को साढ़े तीन साल पहले आतंकवादियों ने कश्मीर घाटी के शोपियां जिले में अगवा कर लिया था और उनकी हत्या कर दी थी। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की स्मृति में फैयाज जम्मू इलाके के अखनूर में 2-राजपूताना राइफल्स में तैनात थे। 9 मई, 2017 को फैयाज अपने मामा की बेटी की शादी में शरीक होने दक्षिण कश्मीर के बातपुरा गए थे। इसी दौरान उन्हें आतंकवादियों ने रात करीब 10 बजे अगवा कर लिया। कुछ घंटे बाद ही उनका शव बरामद हुआ था। उमर फैयाज की हत्या से स्थानीय लोगों में काफी गुस्सा देखने को मिला था।

इसे भी पढ़ें:-

उमर फैयाज के नाम पर सेना ने किया था गुडविल स्कूल का नामकरण
लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की स्मृति में अवॉर्ड शुरू करने से पहले भारतीय सेना ने मई 2017 में इनके नाम एक गुडविल स्कूल का नामकरण किया था। शोपियां के बेहीबाग स्थित आर्मी गुडविल स्कूल अब लेफ्टिनेंट उमर फैयाज गुडविल स्कूल के नाम से जाना जाता है। सेना ने बेहीबाग गुडविल स्कूल को शहीद लेफ्टिनेंट उमर फैयाज को समर्पित करते हुए उनके नाम पर स्कूल का नामकरण किया था।