नगरोटा: पाकिस्तान की नापाक चाल की भारत ने खोली पोल, दुनिया को बताई सच्चाई

0
37

नई दिल्ली
देश के अंदर आतंक फैलाने और जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक प्रक्रिया को बाधित करने की पाकिस्तान साजिश को भारत ने गंभीरता से लिया है। सोमवार को भारत ने कुछ चुनिंदा देशों के राजदूतों को इस बारे में विस्तार से जानकारी दी। विदेश सचिव ने इन्हें बताया कि किस तरह पाकिस्तान से प्रशिक्षित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी भारत के अंदर आतंकी वारदात को अंजाम देने में लगे हैं। जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ के बाद मिले हथियार और दूसरे उपकरण से पाकिस्तान के हाथ साफ साबित हुए थे। राजदूतों से हुई बातचीत के दौरान ये डाजियर भी दिये गये।

विदेश सचिव ने इन्हें जानकारी दी कि घाटी के सांबा सेक्टर में मिले सुरंग से साबित हा गया कि किस तरह पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में आतंक फैलाने में लगे हुआ है।

विदेश मंत्रालय के अनुसार अभी कई और देशों के राजदूतों को इस बारे में जानकारी दी जाएगी। दरअसल पाकिस्तान कश्मीर के मसले पर ग्लोबल स्तर पर लगातार प्रोपेगेंडा कर रहा है। भारत की यह कवायद उसी प्रोपेगेंडा का सबूतों के साथ जवाब देना है।पढ़ें: पीएम मोदी ने की थी हाई लेवल मीटिंगइससे पहले बीते शुक्रवार को पीएम माेदी की अगुवाई वाली मीटिंग में गृह मंत्री अमित शाह, एनएसए अजित दोभाल, विदेश सचिव के अलावा सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों के शीर्ष अधिकारी मौजूद रहे। मीटिंग में पीएम नरेन्द्र मोदी ने सुरक्षा और इंटेलिजेंस कर्मियों की तारीफ करते हुए उन्हें लगातार चौकस रहने को भी कहा। मालूम हो कि गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े चार खतरनाक आतंकियों के घंटों मुठभेंड के बाद मारा गया था।

पढ़ें:

पाक को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए पीएम किया ट्वीट
इस मीटिंग में पीएम मोदी को एनएसए अजीत डोभाल के नेतृत्व में सुरक्षा और इंटेलीजेंस के शीर्ष अधिकारियों ने जम्मू-कश्मीर की ताजी स्थिति के बारे में रिपोर्ट दी। इसमें कहा गया कि जम्मू-कश्मीर में सामान्य होते हालात और राजनीतिक प्रक्रिया की वापसी से पाकिस्तान बौखला गया है और वह आतंकियों की मदद से इसमें दखल देने के लिए तमाम साजिश रच रहा है।
इस मीटिंग के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट भी किया। सामान्यता पीएम ऐसी मीटिंग के बारे में टवीट नहीं करते हैं लेकिन पाकिस्तान तक सख्त संदेश देने के लिए उन्होंने ऐसा किया।पढ़ें:

26/11 जैसे बड़े हमले की था तैयारी
जम्मू के नगरोटा में दो दिन पहले हुए एनकाउंटर में मारे गए चार आतंकवादी 12 साल पहले मुंबई में हुए 26/11 जैसे बड़े हमले की तैयारी में थे। पाकिस्‍तान समर्थित ये आतंकवादी किसी बड़ी साजिश की तैयारी में थे, लेकिन चारों आतंकियों को ढेर करने के साथ ही सुरक्षाकर्मियों ने पाकिस्तान की खूंखार मंसूबे पर भी पानी फेर दिया। खुफिया एजेंसी जुड़े सूत्रों का कहना है कि आतंकी जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद चुनाव से पहले पुलवामा जैसा आत्मघाती हमला करने की फिराक में थे। वहीं नगरोटा में पाकिस्‍तान समर्थित आतंकवादियों की बड़ी साजिश का पर्दाफाश होने के बाद भारत ने सख्‍ती बढ़ा दी है।