Delhi Corona Update: दिल्ली में फिर बढ़ा संक्रमण रेट, 111 मरीजों की मौत

0
22

नई दिल्ली
दिल्ली में ना तो कोरोना का संक्रमण कम हो रहा है और ना ही मौत। 24 घंटे में दिल्ली में 111 मरीजों की मौत हो गई। यह चौथी बार है, जब दिल्ली में किसी एक दिन में एक सौ से ज्यादा मरीजों की मौत हुई है। पिछले 10 दिनों में दिल्ली में हुई कोविड से हुई मौत का औसत ज्यादा हो गया है। दिल्ली में कोविड से मरने वालों का औसत 1.58 पर्सेंट है, लेकिन 10 दिनों में मरने वालों का औसत अब 1.65 पर्सेंट तक पहुंच गया है।

शनिवार को 45,562 सैंपल की जांच हुई है। इसमें से 12.90 पर्सेंट सैंपल पॉजिटिव मिले। मरीजों की संख्या भले कम है, लेकिन संक्रमण रेट फिर से बढ़ गया है। वहीं दूसरी ओर एक बार फिर संक्रमित मरीजों की तुलना में रिकवर होने वाले मरीजों की संख्या ज्यादा है। शनिवार को 6,963 मरीज ठीक हुए। अब ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 4,75,106 हो गई है। वहीं कुल संक्रमित मरीज 5,23,117 हैं। अब तक 8,270 मरीजों की मौत हो गई है अब दिल्ली में कुल एक्टिव मरीज 39,741 हैं।

कोरोना से बचाने को महा सर्वे, आ रही ये दिक्कतें
कोरोना से बचाने वाले महा सर्वे में लगी टीमें दूसरे दिन भी लगातार घर-घर जाकर जानकारी जुटाने में लगी हैं। वहीं महासर्वे के तहत कई जगहों पर कैंप लगाकर चेकिंग शुरू कर दी गई है। कंटेनमेंट जोन में कैंप लगाकर जांच की जा रही है। इस बीच कई जगहों पर खासकर घनी आबादी वाली कॉलोनियों में सर्वे में लगी टीमों को कई तरह की दिक्कतें आ रही हैं। सबसे बड़ी दिक्कत आईकार्ड को लेकर आ रही है। कई जगहों पर लोग टीमों से सर्वे के कार्ड मांग रहे हैं। सरकारी कार्ड दिखाने पर वह सहयोग नहीं करते। वे कहते हैं कि हम कैसे मान लें कि आप सर्वे में शामिल हैं और कोई फर्जी इंसान नहीं हैं।

सहयोग नहीं कर रहे कई लोग
अधिकारी के अनुसार, कई लोग सहयोग नहीं कर रहे हैं। वह आमने सामने आने से बच रहे हैं। यहां तक कि बुखार तक चेक नहीं करवा रहे हैं। इनमें ज्यादातर घनी आबादी वाली कॉलोनियों के हैं। इसके बावजूद टीमें अधिक से अधिक लोगों से जानकारियां लेने में लगी हैं। ऊपरी मंजिलों में रहने वाले लोग टीमों से बालकनी से ही बात कर रहे हैं। जिसकी वजह से टीमों को काफी मुश्किलें आ रही हैं। डोर टु डोर सर्वे के अलावा अब इन जगहों पर कैंप लगाकर लोगों की मास लेवल पर टेस्टिंग भी शुरू हो गई है। ताकि लोग खुद से बाहर आकर जांच करवा सकें।

इन इलाकों में संक्रमण सबसे ज्यादा
अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार, बुराड़ी, नजफगढ़, कालकाजी, द्वारका, रोहिणी, बदरपुर, करोल बाग, पश्चिम विहार, जनकपुरी, छतरपुर, महरौली, पीतमपुरा, सरिता विहार, संगम विहार, ग्रेटर कैलाश, राजौरी गार्डन, शालीमार बाग, हरि नगर, लक्ष्मी नगर, यमुना विहार आदि कुछ ऐसे एरिया हैं, जहां संक्रमण की रफ्तार कुछ अधिक है।

25 नवंबर तक होना है सर्वे
इसी कड़ी में साउथ वेस्ट डिस्ट्रिक्ट में शनिवार को साध नगर, सेक्टर-10 द्वारका, धर्मपुरा, रोजवुड अपार्टमेंट द्वारका, एसडीएम ऑफिस, आईडीसी अपार्टमेंट, आर्य समाज रोड आदि पर कैंप लगाए और लोगों की कोरोना जांच की। हालांकि अधिकारियों के अनुसार, कुछ लोग जहां सहयोग नहीं कर रहे हैं वहीं ऐसे लोग भी हैं जो सर्वे में पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं। हालांकि टीमों को इसकी ट्रेनिंग दी गई है कि लोगों से किस तरह सूचनाएं लेनी हैं। 25 नवंबर तक होने वाले इस सर्वे में 13 से 14 लाख घरों में टीमों पहुंचकर लोगों की जांच करेंगी।