रामपुर के 16 थानों में 4 घंटे तक बेटियों का रहा ‘राज’, मास्‍क नहीं पहनने पर SP नेता को भेजा जेल

0
20

रामपुर
उत्‍तर प्रदेश में इनदिनों महिला सशक्तिकरण के लिए ‘मिशन शक्ति’ अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत शुक्रवार को रामपुर के सभी 16 थानों की कमान इलाके की मेधावी बेटियों के हाथ रही। चार घंटे के लिए थानों की प्रभारी बनीं छात्राओं ने इस दौरान फरियाद‍ियों की शिकायतें सुनी और वाहन चेकिंग कर बगैर मास्‍क और हेलमेट चलने वालों पर जुर्माना भी ठोंका। रामपुर के अलावा यूपी के कई अन्‍य जिलों में भी छात्राओं को थाने की कमान दी गई।

सुबह थाना सिविल लाइंस इलाके में बेटियां सड़क पर वाहनों की चेकिंग कर रही थीं। इस दौरान बरेली समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व जिला पंचायत सदस्‍य शिवचरण कश्‍यप अपने वाहन में बगैर मास्‍क लगाए हुए गुजरे। छात्राओं ने जब उन्‍हें रोका तो एसपी नेता बीच सड़क पुलिस से बहस करने लगे। नेता के ड्राइवर ने भी मास्‍क नहीं पहना हुआ था। इसके बाद जब पुलिस ने नेता की गाड़ी की तलाश ली तो पांच डंडे बरामद हुए। पुलिस ने शिवचरण कश्‍यप और उनके ड्राइवर को मौके पर ही अरेस्‍ट कर लिया। बाद में उन्‍हें थाने से जमानत मिल गई। रामपुर की पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम ने बताया कि छात्राओं ने जब एसपी नेता की गाड़ी रोकी तो वह नीचे उतरकर पुलिसवालों से बदसलूकी करने लगे। नेता और उनके ड्राइवर ने मास्‍क नहीं लगाया हुआ था। उनके ऊपर मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

थाना प्रभारी की कार बेटियों को लेने पहुंची घर
अंतरराष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस के अवसर पर ‘मिशन शक्ति’ अभियान के तहत जिले की विभिन्‍न स्‍कूलों से मेधावी छात्राओं का चयन कर उन्‍हें 4 घंटे के लिए थाने की कमान दी गई थी। इस दौरान उनको थानों पर होने वाले कार्यों के बारे में जानकारी दी गई। थाना प्रभारी की कार उन्हें लेने उनके घर पहुंची। सभी 16 थानों में ठीक 10 बजे छात्राओं ने थाने का कार्यभार संभाला और दो बजे तक उनका ही हुक्म चला। इस दौरान थानों में होने वाले सभी काम उनके आदेश या उनकी सहमति से किए गए। बेटियों को न सिर्फ कुर्सी दी गई थी बल्कि सभी अधिकार भी दिए गए थे।

थाने पर मारा राउंड, दिए समाधान के निर्देश सिविल लाइंस में ग्रीववुड की टॉपर छात्रा इकरा बी को प्रभारी बनाया गया। थाना प्रभारी दुर्गा सिंह ने उन्हें थाने का भ्रमण कराया और जानकारी दी। पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम भी सिविल लाइंस थाने पहुंचे और इकरा बी को पुलिस के कामकाज की जानकारी दी। फरियादें भी सुनीं और संबंधित को निस्तारण के निर्देश भी दिए। शहर कोतवाली में इजा और गंज कोतवाली में मीना कुमार को थाना प्रभारी बनाया गया। बाद में सभी ने सड़कों पर वाहन चेकिंग भी की और चालान काटकर जुर्माना भी वसूल किया।