अप्रैल 2021 से बढ़ सकती है सेना में रिटायरमेंट की उम्र, CDS रावत की निगरानी में तैयार हुआ खाका

0
81

नई दिल्ली
सशस्त्र बलों में अफसरों के रिटायरमेंट की उम्र और उनकी पेंशन के नए नियम अगले साल अप्रैल से लागू करने की योजना बना रहे हैं। अफसरों की रिटायरमेंट की आयु एक से तीन साल तक बढ़ाए जाने का प्लान है। रक्षा विभाग के प्रमुख जनरल बिपिन रावत के अधीन सैन्य मामलों का विभाग (डीएमए) अगले साल अप्रैल तक अधिकारियों की सेवानिवृत्ति की आयु एक से तीन साल बढ़ाने के प्रस्ताव को लागू करने की योजना पर काम कर रहे हैं।

60 साल तक हो जाएगी नौकरीसरकार के सूत्रों ने एएनआई को बताया, ‘रिटायरमेंट की आयु बढ़ाने पर बहुत सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है क्योंकि सभी अधिकारियों को एक से तीन साल की अतिरिक्त सेवा मिल रही है जो उन्हें 60 साल की उम्र के करीब लाएगी।’ उन्होंने कहा कि योजना अब अगले वित्तीय वर्ष की शुरुआत से अप्रैलप्रस्ताव को लागू करने की है।

CDS बिपिन रावत की निगरानी में पूरा कामरक्षा मंत्रालय के तहत बना नया विभाग, मिलिट्री अफेयर्स डिपार्टमेंट, आर्मी, नेवी और एयरफोर्स ऑफिसरों की बढ़ाने के प्रस्ताव पर काम कर रहा था। साथ ही प्री-मैच्योर रिटायरमेंट लेने पर पेंशन काटने का भी प्रस्ताव है। मिलिट्री अफेयर्स डिपार्टमेंट से 29 अक्टूबर को एक पत्र जारी किया गया था जिसमें कहा गया था कि 10 नवंबर तक इस संदर्भ में ड्राफ्ट जीएसएल (गर्वनमेंट सेंक्शन लेटर) तैयार कर लिया जाए। इसे सीडीएस जनरल बिपिन रावत देखेंगे।

ये है पूरा प्रस्तावनए प्रस्ताव में आर्मी में कर्नल और नेवी तथा एयरफोर्स में इसके समकक्ष अधिकारियों की रिटायरमेंट एज 54 से बढ़ाकर 57 करने, ब्रिगेडियर और इनके समकक्ष अधिकारियों की रिटायरमेंट ऐज 56 से बढ़ाकर 58 साल करने और मेजर जनरल एवं समकक्ष अधिकारियों की रिटायरमेंट एज 58 साल से बढ़ाकर 59 साल करने का प्रस्ताव है। लेफ्टिनेंट जनरल और इससे ऊपर कोई बदलाव नहीं होगा। साथ ही जूनियर कमिशंड ऑफिसर्स और सैनिक और नेवी-एयरफोर्स में इनके समकक्ष जो लॉजिस्टिक्स, टेक्निकल और मेडिकल ब्रांच में हैं, उनकी रिटायरमेंट ऐज 57 साल करने का प्रस्ताव है।