UP: पटाखे बैन तो पूर्व MLA ने हवाई फायरिंग कर मनाई दीपावली, FIR पर बोले-‘बंदर भगा रहा था’

0
11

निखिल शर्मा,
दीपावली पर प्रदूषण को रोकने के लिए एनजीटी ने लखनऊ, कानपुर और मेरठ सहित यूपी के 13 जिलों में पटाखों को प्रतिबंधित तो कर दिया मगर, पटाखों का शोर बदस्तूर जारी रहा। इस शोर में और इजाफा करने में कुछ जनप्रतिनिधि भी पीछे नहीं रहे। मेरठ में बीजेपी नेता और पूर्व विधायक गोपाल काली ने अपने घर के बाहर हवाई फायरिंग ही कर डाली। इसका वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो पुलिस ने तत्‍काल ऐक्‍शन लेते हुए बीजेपी नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। साथ ही उनका शस्‍त्र निरस्‍त करने की भी कार्रवाई भी चल रही है।

गौरतलब है कि गंगानगर डी ब्लॉक निवासी गोपाल काली कई साल पहले कांग्रेस से हस्तिनापुर विधानसभा सीट से एमएलए रहे हैं। वर्तमान में गोपाल काली बीजेपी में हैं। शनिवार को दीपावली पूजन के कुछ देर बाद ही सोशल मीडिया पर पूर्व विधायक के आवास के बाहर हर्ष फायरिंग का एक वीडियो वायरल हुआ। 23 सेकेंड के इस वीडियो में पूर्व विधायक मस्कट बंदूक से हवाई फायरिंग करते नजर आ रहे थे। वहीं, उनका बेटा इसका वीडियो बनाता हुआ नजर आया।

वीडियो वायरल होने के बाद हर्ष फायरिंग रोकने को लेकर तमाम तरह के दावे करने वाले पुलिस अधिकारियों में हड़कंप मच गया। गंगानगर थाने के इंस्पेक्टर विजेंद्र पाल राणा ने बताया कि गोपाल काली के वीडियो की जांच कराते हुए उनके शस्त्र लाइसेंस के निरस्तीकरण की कार्रवाई भी की जाएगी।

बंदरों को भगाने के लिए की फायरिंग: पूर्व विधायक
दूसरी ओर, अपने खिलाफ हर्ष फायरिंग का मुकदमा दर्ज होते ही पूर्व विधायक गोपाल काली ने सफाई दी है। गोपाल काली का कहना है कि उनके क्षेत्र में बंदरों ने आतंक मचाया हुआ है। बंदरों के उत्पात से परेशान आकर वह कई बार कमिश्नर से लेकर नगर आयुक्त से शिकायत कर चुके हैं। पूर्व विधायक का आरोप है कि तमाम शिकायतों के बावजूद उनकी आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई, इसलिए वह हवाई फायरिंग कर बंदरों को भगा रहे थे। इसके लिए उन्होंने बिना छर्रे वाले धमाका करने वाले कारतूस चलाए थे। उन्होंने हर्ष फायरिंग की बात से साफ इनकार किया है।