नीतीश कुमार की सरकार में इन चेहरों का मंत्री बनना तय, कोई हैं CM के खास तो कोई सुशील मोदी के करीबी

0
9

पटनाबिहार में नई सरकार के गठन (Government formation in Bihar) की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। आज दोपहर 12:30 बजे के बाद एनडीए की होने वाली बैठक से पहले बीजेपी के नवनिर्वाचित विधायक अपने विधायक दल का नेता चुनेंगे। इसके साथ ही राजनीतिक गलियारे में संभावित मंत्रियों के नाम की चर्चा शुरू हो चुकी है। ये तय माना जा रहा है कि एनडीए के विधायक दल की बैठक में नीतीश कुमार को एक बार फिर से नेता चुना जाएगा। माना जा रहा है कि बैठक में केवल इसका औपचारिक ऐलान कर दिया जाएगा। नीतीश कुमार (Nitish kumar) के मुख्यमंत्री बनने की स्थिति में कुछ और ऐसे चहरे हैं जिनके बारे में माना जा रहा है कि जिनका बिहार कैबिनेट का हिस्सा बनना तय है।
बिहार में नई सरकार के गठन (Government formation in Bihar) की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। एनडीए की होने वाली बैठक से पहले बीजेपी के नवनिर्वाचित विधायक अपने विधायक दल का नेता चुनेंगे। इसके साथ ही राजनीतिक गलियारे में संभावित मंत्रियों के नाम की चर्चा शुरू हो चुकी है।
पटना
बिहार में नई सरकार के गठन (Government formation in Bihar) की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। आज दोपहर 12:30 बजे के बाद एनडीए की होने वाली बैठक से पहले बीजेपी के नवनिर्वाचित विधायक अपने विधायक दल का नेता चुनेंगे। इसके साथ ही राजनीतिक गलियारे में संभावित मंत्रियों के नाम की चर्चा शुरू हो चुकी है। ये तय माना जा रहा है कि एनडीए के विधायक दल की बैठक में नीतीश कुमार को एक बार फिर से नेता चुना जाएगा। माना जा रहा है कि बैठक में केवल इसका औपचारिक ऐलान कर दिया जाएगा। नीतीश कुमार (Nitish kumar) के मुख्यमंत्री बनने की स्थिति में कुछ और ऐसे चहरे हैं जिनके बारे में माना जा रहा है कि जिनका बिहार कैबिनेट का हिस्सा बनना तय है।
संजय कुमार झानीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाते हैं। वह बीजेपी और जेडीयू के बीच कड़ी माने जाते हैं। ललन सिंह के सांसद बनने के बाद से संयज कुमार झा नीतीश कैबिनेट में शामिल हुए हैं। वह पिछली सरकार में जल संसाधन मंत्री का जिम्मा संभालते रहे हैं। इस बार के विधानसभा चुनाव में इनकी अगुवाई में मिथालंचल में एनडीए ने शानदार प्रदर्शन किया है। कुल 10 विधानसभा सीटों में से 8 पर एनडीए के विधायक जीतकर आए हैं।
श्रवण कुमारनीतीश कुमार के करीबी नेता माने जाते हैं। खास बात यह है कि श्रवण कुमार नीतीश कुमार के गृह जिले से आते हैं। वह जेडीयू के टिकट पर 7वीं बार विधायक बने हैं। पिछली सरकारों में वह संसदीय कार्य मंत्री, ग्रामीण विकास मंत्रालय जैसे अहम पद संभाल चुके हैं।
बीमा भारतीबिहार सरकार में गन्ना मंत्री बीमा भारती बाहुबली अवधेश मंडल की पत्नी हैं। जेडीयू नेता बीमा रुपौली सीट से 2005 से लगातार चुनाव जीत रही हैं। 2005 में वह आरजेडी से चुनाव लड़ी थीं। 2010 और 2015 में जेडीयू से लड़ी हैं। बीमा भारती नीतीश सरकार के मजबूत चेहरों में से एक मानी जाती हैं।
सुशील कुमार मोदीजब से नीतीश कुमार सीएम हैं तब से सुशील मोदी डिप्युटी सीएम हैं। नीतीश कुमार के साथ इनका सामंज्सय अच्छा माना जाता है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता एक बार फिर से इनका डिप्युटी सीएम बनना तय माना जा रहा है।
प्रेम कुमारगया विधानसभा सीट से आठवीं बार विधायक बने हैं। करीब 50 साल से बीजेपी के कार्यकर्ता हैं। वह पिछली सरकारों में ग्रामीण विकास जैसा अहम पद संभाल चुके हैं।
नंदकिशोर यादवपटना साहिब विधानसभा सीट से छठी बार विधायक बने हैं। वह बीजेपी के पुराने नेता हैं। पिछली सरकारों में नंद किशोर यादव रोड परिहन मंत्रालय जैसा अहम पद संभाल चुके हैं।
विजेंद्र प्रसाद यादवबीजेपी में ओबीसी चेहरे के रूप में बड़ा नाम हैं। बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं और पिछली सरकार में ऊर्जा विभाग का मंत्रालय संभाल चुके हैं।
मंगल पांडेयस्वास्थ्य मंत्री का पद संभालते रहे हैं। सुशीम कुमार मोदी के करीबी माने जाते हैं। बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। इनका भी कैबिनेट में आना तय माना जा रह है।
संतोष कुमारजीतन राम मांझी के बेटे हैं। फिलहाल MLC हैं। हम प्रमुख जीतन मांझी पहले ही कैबिनेट में शामिल होने से मना कर चुके हैं इसलिए इनका आना तय माना जा रहा है। कैबिनेट में महादलित समाज का चेहरा बन सकते हैं।