जीत के बाद नीतीश कुमार ने सीएम आवास पर बेटे संग मनाई दिवाली, देखें

0
40

पटनापूरे देश में प्रकाश पर्व दीपावली की धूम शनिवार को देखने को मिली। बिहार की राजधानी पटना में भी इसे जमकर मनाया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी पटना स्थित सरकारी आवास एक अन्ने मार्ग पर दिवाली का पर्व मनाया। उन्होंने दीये जलाकर बेहद सादगी के साथ इस त्योहार को मनाया। हालांकि, इस दौरान बेहद खास तस्वीर देखने को मिली। नीतीश कुमार के बेटे निशांत भी इस दौरान पिता के साथ मौजूद नजर आए। देखिए तस्वीरें…
नीतीश कुमार ने प्रकाश पर्व दीपावली के मौके पर प्रदेश और देशवासियों को बधाई दीं। अपने शुभकामना संदेश में उन्होंने कहा कि दिवाली अंधकार पर प्रकाश, अज्ञान पर ज्ञान और बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक है। इस खास मौके पर उन्होंने अपने सरकारी आवास पर दीये जलाकर दिवाली मनाई।
पटना
पूरे देश में प्रकाश पर्व दीपावली की धूम शनिवार को देखने को मिली। बिहार की राजधानी पटना में भी इसे जमकर मनाया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी पटना स्थित सरकारी आवास एक अन्ने मार्ग पर दिवाली का पर्व मनाया। उन्होंने दीये जलाकर बेहद सादगी के साथ इस त्योहार को मनाया। हालांकि, इस दौरान बेहद खास तस्वीर देखने को मिली। नीतीश कुमार के बेटे निशांत भी इस दौरान पिता के साथ मौजूद नजर आए। देखिए तस्वीरें…
नीतीश ने यूं मनाई दिवालीबिहार चुनाव में एनडीए की जीत के बाद नीतीश कुमार एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं। इसको लेकर जल्द ही फाइनल ऐलान हो जाएगा। इस बीच नीतीश कुमार ने पटना स्थित सरकारी आवास पर दिवाली का पर्व मनाया।
नीतीश कुमार के साथ बेटे निशांत भी आए नजरदीपावली के मौके पर नीतीश कुमार ने सरकारी आवास एक अन्ने मार्ग पर दीये जलाए। इस मौके पर उनके बेटे निशांत भी मौजूद रहे। पार्टी के नेता भी दिवाली के मौके पर उनके साथ नजर आए।
पौधों के पास जेडीयू मुखिया ने जलाए दीयेनीतीश कुमार ने पौधों के पास दीये जलाए और बेहद सादगी भरे अंदाज में दीवाली की शुभकामनाएं दीं।
नीतीश ने देशवासियों को दी दिवाली की शुभकामनाएंइससे पहले नीतीश कुमार ने प्रकाश पर्व दीपावली की प्रदेश और देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं दीं। अपने शुभकामना संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रकाश पर्व दीपावली अंधकार पर प्रकाश, अज्ञान पर ज्ञान और बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक है। अनेकता में एकता की मिसाल हमारी संस्कृति और भारतीय मनीषा ‘असतो मा सद्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय, मृत्योर्मामृतं गमय’ शुभ संकल्प का संदेश देती है। दीपों का महापर्व प्रदेश में प्रेम और सद्भाव के साथ ही लोगों के जीवन में शांति, सुख और समृद्धि लाए।