2014 से हर साल पीएम मोदी जवानों के साथ मनाते हैं दिवाली, जानिए किस साल कहां मनाया जश्न

0
14

नई दिल्ली2014 को भारतीय राजनीति का सबसे बड़ा उलटफेर हुआ और उसके साथ ही कई रिवाजें भी बन गई। प्रधानमंत्री जब पीएम बनें तो उन्होंने कई तरह के बड़े बदलाव किए। उन्होंने फॉरेन पॉलिसी से लेकर तमाम बड़े बदलाव किए। ऐसी ही एक रिवाज 2014 से आज तक कायम है। पीएम मोदी 2014 से लेकर हर साल दिवाली जवानों के बीच ही मनाते हैं।

2014 को पीएम मोदी की सियाचिन में दिवालीपीएम मोदी हर साल दिवाली सरहद पर तैनात देश के जवानों के साथ ही मनाते हैं। इसकी शुरुआत हुई 2014 को जब पीएम मोदी सियाचिन पहुंच गए। पीएम मोदी ने सरकार बनने के बाद सबसे पहली दिवाली सियाचिन में मनाई। सियाचिन में सबसे कठिन परिस्थितियों में भारतीय जवान सीमा की रक्षा करते हैं। सियाचिन में पारा -40 डिग्री तक पहुंच जाता है।

2015 पीएम मोदी पंजाब में दिवालीसाल 2015 में पीएम मोदी ने पंजाब में भारतीय सेना के जवानों के बीच दीवाली मनाई थी। तब उन्होंने 1965 युद्ध के वॉर मेमोरियल जाकर पाकिस्तान को संदेश दिया था। पीएम मोदी हर बार अलग-अलग जगहों पर तैनात भारतीय जवानों के साथ दिवाली मनाते हैं।

2016 में हिमाचल में दिवाली2015 के बाद साल 2016 में पीएम मोदी हिमाचल प्रदेश के आर्मी और डोगरा स्काउट्स के जवानों के बीच पहुंचे थे। यहां पर पीएम और जवान के बीच मुलाकात ऐसी दिख रही थी मानों कोई दोस्त आपस में मिल रहे हैं। यहां पीएम जवानों से दोस्त की तरह मिले। जवानों को हौसला बढ़ाया और फोटो भी खिंचवाई।

2017 को जम्मू कश्मीर में दिवाली2017 में भी पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में BSF और सेना के जवानों के साथ दीवाली मनाई थी। तब भी पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया था। यहां पर पीएम मोदी ने सीधे-सीधे पाक को चेता दिया था कि अगर आंतकवाद के पालोगे तो उसका अंजाम अच्छा नहीं होगा।

2018 उत्तराखंड में दिवालीसाल 2018 में पीएम मोदी ने उत्तराखंड के उत्तरकाशी में सेना और ITBP के जवानों के बीच दीवाली मनाई थी। इस मौके पर उन्होंने मिठाई खिलाकर जवानों का हौसला बढ़ाया था।

2019 में राजौरी सेक्टर में दिवालीपिछले साल 27 अक्टूबर 2019 को मोदी ने राजौरी में जवानों के साथ दीवाली मनाई। पीएम सेना की वर्दी में जवानों के बीच पहुंचे। पहले शहीदों को नमन किया फिर जवानों को मिठाई खिलाकर दीवाली की खुशी बांटी।

2020 में जैसलमेरप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दीपावली इस साल भी सैनिकों के बीच मन रही है। जैसलमेर के लोंगेवाला पोस्‍ट जाकर उन्‍होंने जवानों के बीच वक्‍त बिताया। इस दौरान उन्‍होंने टैंक की सवारी की और जवानों मे मिठाइयां भी बांटी। पहले पोस्‍ट और फिर जैसलमेर एयरबेस पर मोदी ने देश के बहादुर जवानों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने सैनिकों से कहा कि ‘आपका यही जोश, यही जुनून देश को आश्वस्त करता है। आपकी ये हुंकार दुश्मन के पैरों में कंपकंपी पैदा कर देती है, माथे से पसीने छुड़ा देती है।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं कई बार यहां (एयरबेस) आया लेकिन शेड्यूल इतना बिजी रहा है कि सैनिकों के साथ वक्‍त बिताने का समय नहीं मिला।

पीएम मोदी ने सैनिकों के पराक्रम को सराहापीएम मोदी ने सैनिकों से कहा, “दीपावली के दिन दरवाजे या गेट के सामने शुभ-लाभ या रिद्धि-सिद्धि आदि रंगोली की परंपरा है। इसके पीछे यही सोच होती है कि दीपावली पर स्मृद्धि आए। वैसे ही राष्ट्र की सीमाएं एक प्रकार से देश का द्वार होती हैं। ऐसे में राष्ट्र की स्मृद्धि, शुभ-लाभ और रिद्धि-सिद्धि आपसे है और आपके पराक्रम से है। इसलिए ही आज देश के हर घर में आप सभी का गौरव गान करते हुए आपके लिए दीया जलाकर लोग अपनी भावनाएं प्रकट कर रहे हैं।”