मोदी ने बाइडेन-हैरिस को दी बधाई, जताई मजबूत भारत-US संबंधों की उम्मीद

0
4

नई दिल्ली
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री () और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत देश के कई गणमान्य हस्तियों ने अमेरिका के नए राष्ट्रपति () () को जीत की बधाई दी है। साथ ही भारतीय मूल की () के उपराष्ट्रपति बनने पर उन्हें भी शुभकामनाएं दी हैं। पीएम मोदी ने उम्मीद जताई है कि बाइडेन-हैरिस प्रशासन के साथ भारत-अमेरिका के संबंध नई ऊंचाइयों को छुएंगे।

भारत-अमेरिका संबंधों को और मजबूत करने के लिए मिलकर काम करेंगे: कोविंद
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जो बाइडेन और कमला हैरिस को क्रमशः अमेरिका का राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति चुने जाने पर बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘जो बाइडेन के अमेरिका के राष्ट्रपति और कमला हैरिस के उप-राष्ट्रपति चुने जाने पर हार्दिक शुभकामनाएं। मैं बाइडेन के सफल कार्यकाल की कामना करता हूं और भारत-अमेरिका संबंधों को और मजबूती प्रदान करने के लिए उनके साथ काम करने को उत्सुक हूं।’

बाइडेन और हैरिस को मोदी ने दी बधाई
अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बनने जा रहे जो बाइडेन को बधाई देते हुए पीएम मोदी ने लिखा, ‘आपकी शानदार जीत के लिए शुभकामनाएं। बतौर उपराष्ट्रपति भारत-अमेरिका रिश्तों को लेकर दिया गया आपका योगदान सराहनीय रहा। मुझे एक बार फिर भारत-अमेरिका संबंधों को नई ऊंचाइयों तक ले जाने में आपके साथ काम करने में खुशी होगी।’

‘आपकी चिट्टियों ही नहीं, सारे भारतीय-अमेरिकियों के लिए गर्व का पल’इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में उन्होंने भारतीय मूल की कमला हैरिस को भी उपराष्ट्रपति बनने की बधाई दी है। पीएम मोदी ने लिखा, ‘आपकी सफलता प्रेरणा देने वाली है। यह न सिर्फ आपकी चिट्टियों (तमिल में- मौसियों) के लिए, बल्कि सभी भारतीय-अमेरिकियों के लिए गर्व का क्षण है। मुझे उम्मीद है कि भारत-अमेरिका संबंध आपके नेतृत्व और सहयोग से नई ऊंचाइयों को छुएंगे।’

पढ़ें:

सोनिया ने जताई संबंधों में और प्रागढ़ता की उम्मीद
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी जो बाइडेन और कमला हैरिस को बधाई दी। इस संबंधित जारी एक प्रेस रिलीज में कहा गया है, ‘कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति चुने गए जो बाइडेन को अपनी और कांग्रेस पार्टी की ओर से बधाई दी है। उन्होंने अगला उप-राष्ट्रपति चुने जाने पर सिनेटर कमला हैरिस को भी हार्दिक बधाई दी।’ रिलीज में कहा गया है, ‘उन्होंने आगे कहा कि बाइडेन और कमला हैरिस के कुशल और परिपक्व नेतृत्व में भारत करीबी संबंध की उम्मीद करता है जो हमारे क्षेत्र और पूरी दुनिया में शांति और विकास के लिए फायदेमंद होगा।’

जो बाइडेन ने चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को हराया
बता दें कि भारतीय समयानुसार शनिवार रात अमेरिका के राष्ट्रपति चुनावों के नतीजे आ गए। जनवरी 2021 में वाइट हाउस की कमान डेमोक्रेट कैंडिडेट जो बाइडेन के हाथ में आना तय है। बाइडेन ने रिपब्लिकन कैंडिडेट और मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को पीछे छोड़ते हुए पेंसिल्वेनिया भी अपने नाम कर लिया। इसी के साथ उन्हें जरूरी 270 इलेक्टोरल वोट मिल गए।

जीत के बाद बोले बाइडेन, मैं सभी अमेरिकियों का राष्ट्रपति
जीत के बाद बाइडेन ने ट्वीट किया, ‘अमेरिका, मैं बहुत सम्मानित महसूस कर रहा हूं कि आपने देश के नेतृत्व के लिए मुझे चुना है। हमारा आगे का काम मुश्किल होगा, लेकिन मैं वादा करता हूं कि मैं सभी देशवासियों का राष्ट्रपति रहूंगा- चाहे आपने मुझे वोट किया हो या नहीं। आपने जो भरोसा मुझपर दिखाया है, उसे मैं पूरा करूंगा।’ बता दें कि पेंसिल्वेनिया में ट्रंप आगे चल रहे थे लेकिन जैसे-जैसे मेल-इन बैलेट की गिनती की गई, वैसे-वैसे बाइडेन आगे निकलते गए।

पढ़ें:

कौन हैं बाइडेन?
जो बाइडेन का पूरा नाम जोसेफ रॉबनेट बाइडेन जूनियर है। उनका जन्म 20 नवंबर, 1942 को पेंसिलविनिया राज्य के स्क्रैंटन में हुआ था। उनके पिता कैथोलिक आयरिश मूल के थे। जिनका नाम जोसेफ रॉबनेट बाइडेन था, जबकि माता का नाम कैथरीन यूजीन फिननेगन था। जो बाइडेन कुल तीन भाई और एक बहन थे। जिनमें जो सबसे बड़े थे। बाइडेन के पिता की माली हालत पहले अच्छी नहीं थी। बाद में जब उनके पिता कार सेल्समैन बने तब उनके घर की आर्थिक स्थिति बदली।

भारतीय मूल की कमला हैरिस बनीं उपराष्ट्रपति
भारतीय मूल की मां और जमैकन पिता की बेटी कमला हैरिस ने इतिहास रच दिया है। पेंसिल्वेनिया में जीत के साथ ही जो बाइडेन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बन गए हैं। इसके साथ ही कमला हैरिस देश की पहली अफ्रीकी-अमेरिकी और दक्षिण एशियाई-अमेरिकी उपराष्ट्रपति बन गई हैं। जीत के बाद हैरिस ने ट्वीट किया- ‘ये चुनाव जो बाइडेन या मुझसे बड़े हैं। यह अमेरिका की आत्मा और इसके लिए लड़ने की हमारी इच्छाशक्ति के बारे में हैं। आगे बहुत सारा काम है। शुरू करते हैं।’ आपको बता दें कि हैरिस अमेरिका की राजनीति में एक जाना-पहचाना नाम रही हैं और भारत के साथ उनका गहरा कनेक्शन है।