बंगाल में मतुआ समुदाय के घर शाह ने जमीन पर बैठकर खाया खाना, सियासी मायने भी समझिए

0
18

कोलकाता
पश्चिम बंगाल के दौरे पर पहुंचे बीजेपी नेता और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह शुक्रवार को एक अलग अंदाज में दिखे। कोलकाता में अपनी यात्रा के दौरान शाह मतुआ समुदाय के एक कार्यकर्ता के घर पहुंचे, जहां उन्होंने जमीन पर बैठकर खाना खाया। अमित शाह तीन दिवसीय दौरे पर पश्चिम बंगाल में हैं और उन्होंने यहां कई बड़े कार्यक्रमों में हिस्सा लिया है। अमित शाह के इस भोजन को एक अलग सियासी चश्मे से देखा जा रहा है। मतुआ समुदाय के वोटरों के एक बड़े सियासी प्रभाव को देखते हुए शाह के इस खास अंदाज ने विरोधियों की चिंता बढ़ा दी है।

शुक्रवार को शाह कोलकाता में हैं, जहां उन्होंने यहां के प्रसिद्ध दक्षिणेश्वर और कालीबाड़ी मंदिरों में दर्शन पूजन किया। इसके बाद वो एक स्थानीय कार्यकर्ता के घर पहुंचे और जमीन पर बैठकर खाना खाया।

जमीन पर बैठकर खाया खाना
शाह कोलकाता के गौरांगनगर इलाके में बीजेपी के कार्यकर्ता नवीन बिस्वास के घर पहुंचे और यहां अन्य बीजेपी नेताओं के साथ खाना खाया। शाह यहां पर नवीन बिस्वास के परिवार से भी मिले। भोजन के बाद शाह ने ट्विटर पर इसकी फोटो शेयर की।

मिले प्यार के लिए रहूंगा आभारी: Amit Shah
अपने ट्वीट में शाह ने लिखा कि वो नवीन बिस्वास और उनके परिवार के आतिथ्य भाव के लिए उनके आभारी हैं। शाह ने ट्विटर पर लिखा कि वो इस परिवार से उन्हें मिले प्यार और आदर के लिए उनके आभारी रहेंगे।

मतुआ समुदाय रहा है डिसाइडिंग फैक्टर
बता दें कि पश्चिम बंगाल में मतुआ समुदाय के वोटरों की एक बड़ी भूमिका रही है। लोकसभा चुनाव के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने मतुआ समुदाय के एक ऐतिहासिक मठ में मां वीणापाणि से आशीर्वाद लेकर अपने चुनाव अभियान की शुरुआत की थी। बांग्लादेश से शरणार्थी के रूप में भारत मे आकर बसे मतुआ समुदाय के लोगों ने बीजेपी का जमकर साथ दिया तो बीजेपी को यहां 18 लोकसभा सीटों पर जीत मिली। 10 लोकसभा सीट और 40 विधानसभा क्षेत्रों में इन वोटरों के प्रभाव को देखते हुए बीजेपी के लोग इन्हें लुभाने की कोशिश में हैं। वहीं ममता सरकार ने खुद भी इस समुदाय के वोटरों को अपनी ओर करने के लिए कई बड़े ऐलान किए हैं।

पहले ममता बनर्जी सरकार पर साधा निशाना
इससे पहले शुक्रवार सुबह मीडिया से बात करते हुए प. बंगाल में शाह ने कहा कि ये धरती आध्यात्मिक चेतना को जगाने वाली भूमि है। इस धरती पर जिस तरह तुष्टीकरण की राजनीति की जा रही है, इससे बंगाल के लोग आहत हुए हैं। शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार का मृत्युघंट बज चुका है और पश्चिम बंगाल में नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में ही परिवर्तन आ सकता है। शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी अगले चुनाव में दो तिहाई बहुमत के साथ सरकार बनाएगी।