NDA में कन्फ्यूजन: योगी गरजे- घुसपैठिये बाहर होंगे, नीतीश बोले- किसी में दम नहीं

0
39

कटिहार/ किशनगंज: : बिहार का सीमांचल। बुधवार को तीसरे चरण के लिए चुनाव प्रचार शबाब पर है। कटिहार में बीजेपी के फायरब्रांड नेता और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दहाड़ रहे हैं- एनडीए की फिर सरकार बनते ही चुन-चुनकर घुसपैठियों को बाहर खदेड़ेंगे। वहीं से कुछ सौ-सवा सौ किलोमीटर दूर किशनगंज। वहां बिहार के सीएम नीतीश कुमार दम भर रहे हैं- किसी में दम नहीं कि CAA-NRC के नाम पर हमारे लोगों को बाहर करे। बिहार विधानसभा चुनाव के आखिरी दौर की लड़ाई अभी बाकी है। 78 सीटों पर वोटिंग होनी है लेकिन तीसरे चरण से ठीक पहले एनडीए में सीएए-एनआरसी के मुद्दे पर दिख रहा बड़ा कन्फ्यूजन उसे नुकसान पहुंचा सकता है।

योगी बोले- बिहार में फिर से आई NDA की सरकार तो घुसपैठियों को निकाल देंगे बाहरबिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे और आखिरी चरण के चुनाव प्रचार करने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कटिहार पहुंचे। जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने बिहार में घुसपैठ की समस्या को लेकर कहा कि कटिहार घुसपैठ की समस्या से त्रस्त है। बिहार में एनडीए की सरकार बनने पर घुसपैठिये को निकाल बाहर करेंगे। कहा कि एनडीए के भाजपा प्रत्याशी तार किशोर को चौथी बार आशीर्वाद दें,आपके आशीर्वाद से घुसपैठ की समस्या का समाधान होगा। योगी के मुताबिक बिहार में सरकार बनते ही घुसपैठियों को बाहर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कटिहार घुसपैठ की समस्या से परेशान है। इसका निदान किया जाएगा।

नीतीश बोले- किसी में दम नहीं कि हमारे देश के लोगों को बाहर करेबिहार के किशनगंज के कोचाधामन में चुनाव प्रचार करने आए सीएम नीतीश कुमार ने अल्पसंख्यकों के लिए हुए कामों का बखान तो किया ही, साथ ही नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और NRC के मुद्दे पर AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी को भी निशाने पर लिया। उन्होंने भाषण की शुरुआत में ही कहा कि कुछ लोग ऐसी फालतूबातें कर रह हैं कि लोगों को देश के बाहर कर दिया जाएगा। नीतीश में कहा कि किसी में दम नहीं कि हमारे लोगों को देश से बाहर कर दे। गौरतलब है कि कोचाधामन मुस्लिम बहुल सीट मानी जाती है और यहां जेडीयू से मौजूदा विधायक मुजाहिद आलम, आरजेडी से शाहिद आलम और AIMIM से मोहम्मद इजहार मैदान में हैं। ऐसे में सभी जीतके लिए पूरा जोर लगा रहे हैं। ओवैसी इस पूरे इलाके में CAA-NRC का मुद्दा जोर शोर से उठा रहे हैं।

इस वीडियो में सुनिए क्या कहा है नीतीश ने…

क्या मतलब दो अलग-अलग बयानों का
इन दो अलग-अलग बयानों ने कई सवाल उठा दिए हैं। सवाल ये कि क्या फिर से NDA में JDU और बीजेपी के दल मिले हैं दिल नहीं? सवाल ये भी कि क्या नीतीश ओवैसी के बहाने ये सबकुछ बीजेपी को सुना गए? सवाल ये भी कि क्या वोटों के ध्रुवीकरण के चक्कर में NDA में उल्टा कन्फ्यूजन ही फैल गया? खैर… इन सारे सवालों के जवाब तो तीसरे चरण के मतदान और उसके बाद आनेवाले नतीजे दे ही देंगे।