हाथरस गैंगरेप केस : CRPF जवानों ने संभाली पीड़िता के घरवालों की सुरक्षा की कमान

0
14

अजय कुमार, अलीगढ़
यूपी के हाथरस में दलित युवती से गैंगरेप की घटना ने पूरे देश-दुनिया का ध्‍यान अपनी तरफ खींचा है। इस मामले को लेकर खूब राजनीति हुई। नेताओं ने एक-दूसरे पर जमकर कीचड़ उछाले। अंत में यूपी सरकार ने इस घटना की सीबीआई जांच की सिफारिश भी कर दी। अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मृतक युवती के परिवार की सुरक्षा सीआरपीएफ के हवाले कर दी गई है। युवती के परिजन इस मामले में अहम गवाह हैं। यहां पहले से मौजूद पुलिस और पीएसी के जवानों को सुरक्षा से रिलीव कर दिया गया है।

रामपुर से कमांडेंट मनमोहन सिंह के साथ आई 239 वीं बटालियन की एक कंपनी के 80 जवानों ने सुरक्षा की कमान संभाल ली है। मृतक युवती के घर और उसके आसपास के इलाके में इन जवानों की कड़ी नजर रहेगी। घर की छत पर भी जवानों ने पोजीशन ले ली है। सीआरपीएफ जवानों के रहने ठहरने का इंतजाम गांव रोहई के एक विद्यालय में किया गया है।

महिला विंग भी जल्‍द होगी तैनात
सीआरपीएफ के 80 जवानों के साथ ही जल्‍द गांव में महिला विंग भी तैनात की जाएगी। इसमें सीआरपीएफ की 25 महिला सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। कुल मिलाकर सीआरपीएफ के 105 सुरक्षाकर्मी यहां तैनात रहेंगे। सीआरपीएफ के 80 जवानों की टुकड़ी तो रामपुर की बटालियन से आ चुकी है, वहीं महिला सुरक्षाकर्मियों को बुलाने की व्यवस्था की जा रही है।