सुरक्षा बलों की बड़ी कामयाबी, हिज्बुल का चीफ कमांडर सैफुल्लाह एनकाउंटर में ढेर

0
24

श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में भारतीय सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के एक जॉइंट ऑपरेशन में हिज्बुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर और A++ कैटिगरी के आतंकी सैफुल्लाह को मार गिराया गया है। ये मुठभेड़ श्रीनगर के रंगरेथ इलाके में हुई है, जिसके बाद सेना ने यहां बड़े पैमाने पर जवानों को तैनात किया है। हालांकि सैफुल्लाह के मारे जाने और उसकी पहचान को लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना ने आधिकारिक रूप से कोई बयान जारी नहीं किया है।

मिली जानकारी के अनुसार, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना को श्रीनगर के रंगरेथ इलाके में हिज्बुल के दो टॉप आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इनपुट्स के आधार पर यहां सेना की राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी और सीआरपीएफ के जवानों ने जॉइंट ऑपरेशन शुरू किया। शुरुआती एनकाउंटर के दौरान ही उपद्रवियों ने यहां हिंसक प्रदर्शन कर ऑपरेशन में खलल डालने का प्रयास किया। इसके जवाब में सीआरपीएफ ने आंसू गैस के गोले दागकर सभी को मौके से खदेड़ा।

प्रदर्शन की आड़ में फायरिंग कर भागने की कोशिश
रंगरेथ ऑपरेशन के दौरान आतंकियों को सरेंडर करने के लिए भी कहा गया। वहीं आतंकियों ने फायरिंग कर हिंसक प्रदर्शन की आड़ में भागने की कोशिश की। हालांकि सेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए यहां पर हिज्बुल के टॉप कमांडर सैफुल्लाह उर्फ गाजी हैदर को मार गिराया। जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने कहा कि हमनें ऑपरेशन में सैफुल्लाह नाम के कमांडर को मार गिराया है। अभी उसकी पहचान की जा रही है, लेकिन 95 फीसदी तय है कि यह सैफुल्लाह ही है। इसके अलावा एक संदिग्ध आतंकी अरेस्ट भी किया गया है।

नाइकू के बाद संभाली हिज्बुल की कमान
डॉ. सैफुल्लाह उर्फ गाजी हैदर मूल रूप से पुलवामा के मलंगपोरा इलाके का निवासी है। वह हिज्बुल के चीफ सैयद सलाहुद्दीन के कहने पर कश्मीर में आतंक की साजिश रच रहा था। रियाज नाइकू के मारे जाने के बाद सैफुल्लाह ने कश्मीर में हिज्बुल की कमान संभाली थी। इसके अलावा वह पूर्व में हथियार लूट, आईईडी हमले और सुरक्षाबलों के काफिले पर हुए टेरर अटैक की कई घटनाओं में शामिल था।