Sharad Purnima 2020: आज शरद पूर्णिमा का खास दिन, देखिए लोग कैसे दे रहे हैं बधाई

0
89

नई दिल्लीअश्वनि मास की पूर्णिमा तिथि को शरद पूर्णिमा कहा जाता है।इस बार शरद पूर्णिमा 30 अक्तूबर यानि आज है। दरअसल एक वर्ष में 12 पूर्णिमा होती हैं, परंतु शरद पूर्णिमा का विषेश महत्व माना गया है। मान्यता है कि शरद पूर्णिमा की रात्रि में मां लक्ष्मी धरती पर विचरण करती हैं और कहती है “को जाग्रति” जिसका अर्थ होता है कौन जागा है। मान्यता है कि जो भी मनुष्य शरद पूर्णिमा की रात्रि को जागरण करता है, मां लक्ष्मी उससे प्रसन्न होती हैं। इसलिए इस पूर्णिमा का विशेष महत्व माना गया है।

इस साल शरद पूर्णिमा 30 अक्तबूर यानी आज मनाई जा रही है। केवल धार्मिक दृष्टि से ही नहीं बल्कि सेहत के मामले में भी शरद पूर्णिमा को अहम माना गया है। एक अध्ययन के मुताबिक शरद पूर्णिमा की रात में 10 से मध्यरात्रि 12 बजे के बीच कम वस्त्रों में घूमने वाले व्यक्ति को ऊर्जा प्राप्त होती है। इस मौके पर कई राजनेताओं ने देशवासियों को शुभकामनायें दी।

शरद पूर्णिमा पर चंद्रमा की रोशनी में खीर रखने की परंपरा
शरद पूर्णिमा पर विशेषतौर पर खीर बनाकर चंद्रमी की रोशनी में रखी जाती है। मान्यता है कि इस दिन चंद्रमी की किरणों से अमृत की बरसात होती है। जिस चीज पर चंद्रमा की किरण पड़ती हैं उसमें अमृतसमान गुण आ जाते हैं। इसलिए खीर बनाकर लोग चंद्रमा की रोशनी में रखकर उसे प्रसाद के रुप में सेवन करते हैं। मान्यता है कि इससे शरीर में रोग नहीं होते हैं।