फ्रांस हमले पर स्पष्ट बोले मोदी, आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पेरिस के साथ है भारत

0
62

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के नीस शहर में हुए आतंकी हमले समेत हालिया हमलों की निंदा की है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत फ्रांस के साथ है। फ्रांस के नीस शहर में गुरुवार को एक चर्च में हुए आतंकी हमले में महिला समेत 3 लोगों की मौत हो गई। हमलावर ने चाकू से एक महिला का सिर धड़ से अलग कर दिया और 2 अन्य लोगों की भी बर्बरता से हत्या कर दी।

पीएम ने दिया भरोसा- आतंक के खिलाफ भारत फ्रांस के साथ
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, ‘मैं आज नीस में चर्च के भीतर हुए नृशंस हमले समेत फ्रांस में हुए हालिया आतंकी हमलों की कड़ी निंदा करता हूं। पीड़ितों के परिवार वालों और फ्रांस के लोगों के साथ हमारी संवेदना। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत फ्रांस के साथ है।’

मुस्लिम कट्टरपंथ के खिलाफ कार्रवाई कर रहा फ्रांस
कुछ दिन पहले, एक टीचर की गला रेतकर हत्या के बाद फ्रांस ने इस्लामी कट्टरपंथियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा है। इसके खिलाफ मुस्लिम देशों में फ्रांस के प्रति नाराजगी का माहौल है। फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों पर कई मुस्लिम देशों की तरफ से तीखे जुबानी हमले हो रहे हैं। इसे लेकर भी भारत फ्रांसीसी राष्ट्रपति का समर्थन कर चुका है। विदेश मंत्रालय ने मैक्रों के ऊपर हो रहे हमलों की निंदा करते हुए कहा कि आतंक के खिलाफ लड़ाई में भारत फ्रांस के साथ है।

हाल के दिनों में फ्रांस में तीसरा आतंकी हमला
नीस में चर्च के भीतर हुआ आतंकी हमला पिछले 2 महीनों में फ्रांस में तीसरी आतंकी वारदात है। नोट्रेड्रम चर्च में हमले को अंजाम देने वाला हमलावर पुलिस की कार्रवाई में जख्मी हुआ है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हमला उस जगह हुआ है जहां से महज एक किलोमीटर की दूरी पर साल 2016 में बास्तील डे परेड के दौरान एक हमलावर ने ट्रक को भीड़ में घुसा दिया था, जिसमें दर्जनों लोगों की मौत हो गई थी।

पकड़ लिया गया है हमलावर
दो पुलिस अधिकारियों ने नाम का खुलासा नहीं करते हुए कहा कि माना जा रहा है कि गुरुवार की वारदात को हमलावर ने अकेले अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि इसलिए पुलिस अन्य हमलावरों की खोज नहीं कर रही है। नीस के मेयर क्रिस्चियन एस्त्रोसी ने कहा, ‘वह (हमलावर) घायल होने के बाद भी बार-बार ‘अल्लाहु अकबर’ चिल्ला रहा था।’

फ्रांसीसी संसद में पीड़ितों के लिए रखा गया मौन
एस्त्रोसी ने ही बीएफएम टेलीविजन को बताया कि हमले में दो लोगों की मौत हुई है, दो की गिरिजाघर में जबकि बुरी तरह से घायल तीसरे व्यक्ति ने वहां से भागने के दौरान दम तोड़ा। यह घटना ऐसे समय हुई है जब फ्रांस में आतंकवादी हमले को लेकर पहले ही अलर्ट जारी किया हुआ है। वहीं, फ्रांसीसी संसद के निचले सदन ने कोरोना वायरस महामारी के चलते नई पाबंदियों पर बहस को स्थगित करते हुए पीड़ितों के लिए कुछ देर मौन रखा गया। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रो बाद में नीस के लिए रवाना हुए।

इसी महीने पेरिस में टीचर की गला रेतकर हुई थी हत्या
नीस में गुरुवार को हुआ आतंकी हमला ऐसे वक्त में हुआ है जब इसी महीने राजधानी पेरिस में एक हिस्ट्री टीचर की गला काटकर हत्या कर दी गई। हिस्ट्री टीचर ने क्लास में शार्ली एब्दो में छपे पैगंबर मोहम्मद के कार्टून को दिखाया था। इसी से नाराज हमलावर ने उनकी गला रेतकर हत्या कर दी। कुछ देर बाद पुलिस ने हमलावर को भी ढेर कर दिया था। इसी घटना के बाद फ्रांस इस्लामी कट्टरता के खिलाफ सख्त हो गया।