निकिता मर्डर : हरियाणा के गृह मंत्री बोले- बल्लभगढ़ की घटना में कांग्रेस का दबाव, हर एंगल से होगी जांच

0
10

चंडीगढ़/फरीदाबाद
बल्‍लभगढ़ में बीकॉम छात्रा निकिता तोमर की दिनदहाड़े हत्‍या के मामले में हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने बड़ी बात कही है। गृह मंत्री अनिल विज ने बुधवार को कहा कि बल्लभगढ़ की घटना में कांग्रेस का ही दबाव है। आरोपी कांग्रेस नेताओं का ही रिश्तेदार है। उन्होंने कहा कि लड़की के माता-पिता ने साल 2018 में भी आरोपियों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया था लेकिन कांग्रेस नेताओं ने दबाव बनाकर उसे वापस लेने के लिए मजबूर कर दिया था।

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने आगे कहा, ‘पूरे मामले की जांच करने के लिए एसआईटी बनाई गई है। हमने एसआईटी को कहा है कि साल 2018 से मामले की जांच की जाए। साथ ही इस बात का पता लगाया जाए कि ऐसी क्या परिस्थियां थीं, जिसके कारण पीड़ित परिवार को मजबूर होकर अपहरण का केस वापस लेने के लिए एफिडेविड देना पड़ा था।

आरोपी के दादा और चाचा कांग्रेस के नेता
सोमवार को बल्‍लभगढ़ में बीकॉम छात्रा निकिता तोमर की दिनदहाड़े हत्‍या कर दी गई थी। सीसीटीवी में दर्ज पूरी घटना जब सामने आई तो आरोपी के कांग्रेस विधायक का रिश्‍तेदार होने की बात पता चली। गिरफ्तार तौसीफ की उम्र 21 साल है। आरोपी फिजियोथैरेपी का कोर्स कर रहा है। दूसरा आरोपी रेहान मेवात का रहने वाला है। तौसीफ के दादा कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं। उसके चाचा खुर्शीद अहमद हरियाणा के पूर्व मंत्री रहे हैं। नूंह से कांग्रेस विधायक आफताब अहमद उसके चचेरे भाई हैं। परिवार का आरोप है कि तौसीफ ने कई बार निकिता पर धर्मपरिवर्तन कराने का दबाव बनाया था।

तौसीफ के घरवालों ने 2018 में दबाव बनाकर वापस कराया था केस
तौसीफ और निकिता दोनों फरीदाबाद के एक स्‍कूल में साथ पड़े थे। निकिता 12वीं की बोर्ड टॉपर्स में थी और सिविल सविर्सिज एग्‍जाम की तैयारी कर रही थी। 2018 में स्‍कूल खत्‍म होने के बाद दोनों अलग-अलग कॉलेज में पढ़ने लगे। पुलिस के अनुसार, उसी साल तौसीफ ने निकिता का अपहरण किया था। मामला दर्ज हुआ था लेकिन पंचायत के बाद वापस ले लिया गया। निकिता के परिवार का आरोप है कि उनपर तौसीफ के रिश्‍तेदारों ने दबाव बनाया था। नूंह में तौसीफ के परिवार का दबदबा है और निकिता के परिवार को भरोसा दिया गया था कि तौसीफ आगे कुछ नहीं करेगा।

एसीपी क्राइम अनिल कुमार के नेतृत्व में एसआईटी बनी
हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि फरीदाबाद में सोमवार शाम एक छात्रा की निर्मम हत्या में शामिल दोनों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। हत्या का प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिया गया है। एसीपी क्राइम अनिल कुमार के नेतृत्व में एसआईटी गठित गई है। जो कि त्वरित जांच और समयबद्ध सुनवाई सुनिश्चित करेगी।