Covid Vaccine Update: जानिए, भारत में तैयार हो रहीं वैक्सीन किस चरण में पहुंचीं, कहां तक पहुंचा काम

0
24

नई दिल्ली
भारत समेत दुनियाभर में कोरोना वायरस की वैक्सीन पर तेजी से काम चल रहा है। भारत में भी 3 प्रमुख वैक्सीनों के ट्रायल चल रहे हैं जो अलग-अलग चरण में है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के डायरेक्टर जनरल बलराम भार्गव ने मंगलवार को बताया कि इस दिशा में कितनी प्रगति हुई है, कौन सी वैक्सीन कैंडिडेट ट्रायल के किस चरण में है। उन्होंने बताया कि एक वैक्सीन कैंडिडेट को फेज-3 ट्रायल्स की मंजूरी मिल चुकी है। बाकी दोनों वैक्सीन फेज-2 ट्रायल के दौर में हैं।

भार्गव ने बताया, ‘3 वैक्सीन कैंडिडेट क्लिनिकल टेस्टिंग के विभिन्न चरण में हैं- कोवाक्सिन को फेज-3 ट्रायल्स के लिए मंजूरी मिल चुकी है। कैडिला के फेज-2 ट्रायल्स जारी हैं और सीरम की वैक्सीन फेज 2b ट्रायल को पूरी करने जा रही है और उसके ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका और अमेरिका में भी ट्रायल्स चल रहे हैं।’

कोरोना वायरस को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में आईसीएमआर चीफ ने बताया कि कावासाकी बीमारी भारत में बहुत कम दिखने को मिलती है। दरअसल, चीन में कोरोना के बाद कावासाकी बीमारी फैल रही है। भार्गव ने कहा, ‘कावासाकी बीमारी एक ऑटो-इम्यून बीमारी है जो 5 साल से कम उम्र के बच्चों को प्रभावित करती है। यह भारत में बहुत कम दिखती है। मुझे नहीं लगता कि भारत में अब तक कोरोना के साथ कावासाकी के संक्रमण का कोई मामला सामने आया है। यह एक बहुत ही दुर्लभ स्थिति होती है।’

भारत में कोरोना के साथ कावासाकी बीमारी के संक्रमण की आशंकाओं को दूर करते हुए भार्गव ने बताया कि भारत में 17 साल से कम उम्र के सिर्फ 8 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव हैं। 5 साल से कम उम्र के संक्रमितों की संख्या इससे और भी कम होगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कि भारत में कोरोना संक्रमण के रोजाना के मामलों में अब लगातार कमी आ रही है। 72 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं और रिकवरी रेट 90.62 प्रतिशत हो चुका है। इतना ही नहीं, 21 से 27 अक्टूबर वाले सप्ताह हर रोज कोरोना ने होने वाली औसतन मौत 1000 से काफी नीचे औसतन 620 रही।