IPL सट्टेबाजी: हर रोज नया होटल, नया WI-FI… मुंबई में धरे गए सटोरियों ने बताया पूरा खेल

0
19

मुंबई
सटोरियों को पता है कि वह सट्टे का खेल रोज जो खेलते हैं, वह अवैध है। उन्हें यह डर भी सताये रहता है कि जांच एजेंसियां उन्हें कभी भी पकड़ सकती हैं, इसलिए कानून की गिरफ्त से बचने के लिए वह अलग-अलग मोडस ऑपरेंडी अपनाते हैं। वह सभी तिगड़म अपनाते हैं। बस, एक ही काम नहीं करते हैं और वह है वर्क फ्रॉम होम।

मुंबई क्राइम ब्रांच की यूनिट-10 ने रविवार को जब दो सटोरियों को पकड़ा, तो उनकी नई मोडस ऑपरेंडी का पता चला। डीसीपी अकबर पठान और सीनियर इंस्पेक्टर विनय घोरपडे की टीम को टिप मिली थी कि कुछ सटोरियों ने मालाड में लिंक रोड पर स्थित एक होटल में कमरा बुक कराया हुआ है और वहां बैठकर IPL सट्टेबाजी खेल रहे हैं। इसके बाद उस होटल पर छापा मारा गया और वहां से मयूर छेड़ा और जतिन शाह नामक आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। क्राइम ब्रांच की टीम ने उनके पास से 12240 रुपये कैश के अलावा दूसरे के नाम से लिए गए सिम कार्ड भी जब्त किए हैं। दोनों एक वेबसाइट के जरिए यह सट्टेबाजी खेल रहे थे।

हर रोज लेते थे नया कमरा
क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी के अनुसार, दोनों आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि जब से आईपीएल शुरू हुआ है, आरोपी रोज किसी नए होटल में कमरा बुक कराते थे और सट्टा खेलते थे। पहले सट्टेबाजी के लिए घरों में दर्जनों फोन लाइन यूज की जाती थीं। लैपटॉप्स रखे जाते थे, टीवी सेट सिर्फ मैच देखने के लिए एक इंडिपेंडेंट कमरे में लगवाए जाते थे। तब फोन टेपिंग या फोन से लोकेशन से उन्हें आसानी से ट्रैप में लिया जा सकता था। अब आरोपियों को कुछ करना नहीं होता है।

अहमदाबाद जाने वाले थे आरोपी
ये लोग सिर्फ एक या दो मोबाइल किसी दूसरे के सिम कार्ड पर यूज करते हैं। चूंकि होटल में कमरा बुक कराते हैं, इसलिए कमरे में उन्हें होटल की तरफ से टीवी सेट लगा मिलता ही है। साथ ही हर होटल अपने कस्टमर को WI- FI का नंबर भी देता है। इसलिए कोई कॉल करते नहीं, होटल के WI- FI से वेबसाइट पर सट्टे के रेट लगाते रहते हैं, सामने टीवी देखते रहते हैं। मैच खत्म होते ही वह होटल छोड़ देते हैं और फिर अगले दिन किसी नए इलाके या नए शहर में नया होटल बुक करा देते हैं। रविवार को जो आरोपी पकड़े गए, वह रविवार के मैच के बाद सोमवार के मैच के लिए अहमदाबाद जाने वाले थे।