विपक्ष ने मोदी का विरोध करते करते देश का विरोध शुरू कर दिया: नड्डा

0
16

जयपुर दुख की बात यह है कि विपक्षी दल के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध करते-करते अब देश का विरोध करने लगे है। विपक्षी दल पाकिस्तान जैसे राष्ट्र की तारीफ करने लग जाता है। कुछ इसी अंदाज में रविवार को बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष विपक्ष पर बरसे। मौका था, राजस्थान में विभिन्न भाजपा जिला कार्यालयों का उद्घाटन एवं शिलान्यास का। नड्डा ने इस दौरान वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से दिल्ली से राजस्थान में विभिन्न भाजपा जिला कार्यालयों का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कांग्रेस पर दिशाहीन होने का आरोप लगाया।

बीजेपी नेता राजस्थान में कमल खिलाने में जुट जाएंइस दौरान नड्डा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर भी निशाना साधा।उन्होंने कहा कि राजस्थान में अब सरकार नाम की चीज ही नहीं है। गहलोत सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने भाजपा नेताओं से आह्वान किया कि वे अगले चुनाव में राज्य में कमल खिलाने के लिए जुट जाएं।

गलवान तक बनवाई सड़कनड्डा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेता पीएम ने सीमा को सुरक्षित करने के लिए कार्य किया है। उन्होंने नभ में, जल में और थल में…भारत को सुरक्षित करने का काम किया है। इसी क्रम में उन्होंने पिछले छह साल में 4700 किलोमीटर की फोर लेन की सड़क अरूणाचल प्रदेश से लेकर गलवान घटी तक बनवाया, ताकि हमारे लोग तुरंत वहां पहुंच सके। लेकिन विपक्ष को इन सब खूबियों में भी कमी दिख रही है।

जो घिसा नहीं , वो हमने हटवाया, कांग्रेस पार्टी घिस चुकी है राहुल गांधी पर बोलते हुए नड्डा ने कहा कि राहुल दलील देते हैं कि श्रीनगर के लोगों से अन्याय हुआ। नड्डा ने कहा कि राहुल गांधी की दलीलों को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भारत के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में हथियार के रूप में इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने कहा, उनकी (राहुल) दलील लेकर इमरान खान यूएन जाते हैं…राहुल गांधी की बात को कहते हैं…ये भारत का प्रतिनिधत्व कर रहे हैं या पाकिस्तान का प्रतिनिधत्व कर रहे हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू बोलते थे कि अनुच्छेद 370 अस्थायी व्यवस्था है। फिर बाद में जब उनकी हिम्मत नहीं हुई इसे हटाने की तो कहने लगे कि ये घिस-घिस कर घिस जाएगी। उन्होंने कहा कि वो तो घिसा नहीं, उसको तो हम लोगों ने हटाया , लेकिन कांग्रेस पार्टी घिस गई।

कृषि सुधार कानूनों क्रांतिकारीनड्डा ने कृषि सुधार कानूनों को क्रांतिकारी बताया और कहा कि ये कानून किसानों को आजादी देते हैं। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने किसान को इतना सक्षम कर दिया है कि वो दुनिया के किसी भी बाजार में अपनी उपज बेच सकता है । दुनिया के बाजारों में उपज के दाम जान सकता है।