चाकू से गर्दन काट शिव को चढ़ाने की कोशिश कर रहा था शख्स, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

0
22

हमीरपुर
मान्यता है कि लंका का राजा रावण भगवान शंकर के सामने अपने शीश की बलि चढ़ाता था। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जिसमें शायद इसी मान्यता से प्रेरित होकर एक शख्स ने शिवमंदिर में अपने आपको की। जानकारी के मुताबिक, यहां एक अधेड़ शख्स शिव मंदिर में अपनी गर्दन काटकर बलि देने की कोशिश में गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने रविवार को जानकारी देते हुए बताया कि शख्स को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है।

घटना जिले के कुरारा इलाके की है। पुलिस अधीक्षक नरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि बेरी गांव के रहने वाले रुक्मणि विश्वकर्मा (49) ने बेतवा नदी किनारे स्थित प्राचीन कोटेश्वर शिव मंदिर में शनिवार रात अपनी गर्दन पर चाकू से प्रहार किया, जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उन्होंने बताया कि विश्वकर्मा को ऐंबुलेंस से इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। उसकी हालत में कुछ सुधार आया है। पुलिस ने बताया कि रुक्मणि विश्वकर्मा ने के कारण अपनी गर्दन काटकर बलि देने की कोशिश की।

बलि के समय मंदिर में मौजूद थे काफी लोग
पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना के समय मंदिर परिसर में काफी संख्या में लोग मौजूद थे, लेकिन अंदर शिवलिंग के पास रुक्मणि अकेले पूजापाठ कर रहा था। चाकू के प्रहार से जख्मी होने के बाद उसके चीखने की आवाज सुनकर लोग अंदर पहुंचे और खून से लथपथ रुक्मणि को अस्पताल पहुंचाया गया।