पीएम मोदी के नेतृत्व में बॉर्डर इन्फ्रास्ट्रक्चर बढ़ने से चीन में खलबली: नड्डा

0
16

शिमला/नई दिल्ली
बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने गुरुवार को कहा कि आज चीन में खलबली इसलिए मची हुई है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में अरुणाचल प्रदेश से लेकर लद्दाख तक सीमाओं को सुरक्षित करने के साथ ही बुनियादी संरचनाओं को मजबूत किया जा रहा है। उन्होंने दिल्ली से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से हिमाचल प्रदेश के 6 जिला बीजेपी कार्यालयों- पालमपुर, धर्मशाला, नूरपुर, देहरा, सुंदरनगर और कुल्लू के शिलान्यास के मौके पर बोल रहे थे।

नड्डा ने कहा, ‘आज चीन में खलबली इसलिए मची हुई है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में अरुणाचल प्रदेश से लेकर लद्दाख की सीमा तक पिछले 6 वर्षों में 4,700 किलोमीटर फोर लेन सड़क बन गई है और पूरे सीमा क्षेत्र को कवर कर लिया गया है।’ उन्होंने कहा कि इसी तरह सीमा पर बड़े टैंकों के गुजरने के लिए कुल 14.7 किलोमीटर लंबे डबल लेन पुल बनाए गए हैं। हाल ही में प्रधानमंत्री ने अटल सुरंग को राष्ट्र को समर्पित किया है जो हिमाचल को लद्दाख से जोड़ती है। इन सब चीजों से चीन हिल गिया है।

पूर्वी लद्दाख में मई में शुरू हुए सीमा गतिरोध के बाद से ही चीन और भारत के बीच तनातनी चल रही है। दोनों देशों की सेनाओं ने क्षेत्र में सैनिकों की भारी तैनाती कर रखी है।

बीजेपी अध्यक्ष ने इस दौरान जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त करने और अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की आधारशिला रखे जाने का जिक्र करते हुए कांग्रेस पर आरोप लगाया कि सत्ता में रहते उसने इन मामलों को लटकाने के हरसंभव प्रयास किए। उन्होंने कहा, ‘चाहे धारा 370 का उन्मूलन हो, तीन तलाक का खात्मा हो या राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करना हो, सभी विषयों का पूर्णकालिक समाधान प्रधानमंत्री मोदी ने किया है।’

नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अनुच्छेद 370 को खत्म कर जम्मू और कश्मीर में विकास की बयार बहाई है तो अयोध्या में रामलला के भव्य मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस ने तो इसे अटकाने, लटकाने और भटकाने के न जाने कितने जतन किए थे।’

कृषि सुधारों पर BJP अध्यक्ष ने कहा कि पहली बार किसानों को आजादी मिली है कि वे अपने उत्पादों को देश के किसी भी हिस्से में चाहे उचित मूल्य पर बेच सकते हैं। इससे हिमाचल प्रदेश के फल उत्पादकों को काफी लाभ होगा।

आत्मनिर्भर अभियान के तहत कृषि संसाधनों के लिए एक लाख करोड़ रुपये का आवंटन और लघु, सूक्ष्म एवं माध्यम उद्योगों के लिए 3 लाख करोड़ की व्यवस्था का जिक्र करते हुए नड्डा ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के किसानों और उद्यमियों को इसका अधिक से अधिक लाभ मिले, इसके लिए पार्टी और सरकार को आगे बढ़ कर काम करना चाहिए।

नड्डा ने कहा, ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत चंबा के रुपाल, कुल्लू के शॉल, लाहौल स्पीति और शिमला की टोपी, स्टोन कार्निंग और हिमाचल प्रदेश की खान-पान की संस्कृति की ब्रांडिंग होगी।’ कांग्रेस पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी घरों से नहीं चलती, नहीं तो पार्टी ‘परिवार’ की हो जाती है।