राष्ट्र के नाम संबोधन में नाराज दिखे पीएम मोदी, हाथ जोड़कर देशवासियों से की ये अपील

0
24

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्र को संबोधित किया। उन्होंने अपने चिर परिचित अंदाज में संबोधन की शुरुआत की लेकिन इस बार वो कुछ नाराज दिखे। पीएम मोदी की अपील में आज देशवासियों से कुछ नाराज़गी भी छिपी थी। पीएम मोदी ने कहा कि तमाम वीडियो ऐसे सामने आ रहे हैं जिसमें कि लोग कोरोना से बचाव करते नहीं दिख रहे। पीएम मोदी ने अन्य देशों का उदाहरण देकर देशवासियों को स्थिति से अवगत कराया। लेकिन संबोधन की कुछ ही देर बाद पीएम मोदी ने लोगों ने हाथ जोड़कर निवदेन किया।

पीएम मोदी ने जोड़े हाथपीएम मोदी ने अपने संबोधन के बीच देश की जनता से हाथ जोड़कर अपील की। पीएम मोदी ने कहा कि याद रखिए जब तक दवाई नहीं ढिलाई नहीं। त्योहारों का समय हमारे लिए खुशियों का समय है, उल्लास का समय है। एक कठिन समय से निकलकर हम आगे बढ़ रहे हैं। थोड़ी सी लापरवाही हमारी गति को रोक सकती है, हमारी खुशियों को धूमिल कर सकती है। जीवन को जिम्मेदारी को निभाना और सतर्कता बरतना ये दोनों चीजें जब तक साथ-साथ चलेंगी तब तक खुशियां बरकरार रहेंगी।

पीएम मोदी की भावुक अपीलपीएम मोदी ने कहा कि दो गज की दूरी, समय-समय पर साबुन से हाथ धुलना और मास्क का ध्यान रखिए और मैं आप सब से कर्बद्ध प्रार्थना करता हूं आपको मैं सुरक्षित देखना चाहता हूं, आपके परिवार को सुखी देखना चाहता हूं। उन्होंने आगे कहा कि ये त्योहार आपके जीवन में उत्साह और उमंग भरे ऐसा वातावरण चाहता हूं और इसलिए मैं हर देशवासी से आग्रह करता हूं। पीएम मोदी जब ये बात बोल रहे थे तो उन्होंने हाथ जोड़ लिए थे।

पीएम मोदी का सातवां संबोधनकोविड-19 महामारी के बाद अपने सातवें में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘समय के साथ आर्थिक गतिविधियां भी तेजी से बढ़ रही हैं। हम में से अधिकांश लोग अपनी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए, फिर से जीवन को गति देने के लिए, रोज घरों से बाहर निकल रहे हैं। त्योहारों के इस मौसम में बाजारों में भी रौनक धीरे-धीरे लौट रही है।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन हमें ये भूलना नहीं है कि लॉकडाउन भले चला गया हो, वायरस नहीं गया है।