नीतीश ध्वस्त करेंगे तेजस्वी का ‘MY’ कार्ड, कितने मुस्लिम और यादवों को दिया टिकट

0
18

पटना
बिहार चुनाव में टिकट बंटवारे के दौरान सभी दलों ने जातिगत वोटों का ख्याल रखा है। ने भी सीट बंटवारे के दौरान कोर वोट बैंक पर फोकस किया है। आरजेडी के ‘MY’ समीकरण को ध्वस्त करने की नीतीश कुमार ने सीट बंटवारे में पूरी कोशिश की है। इस दौरान नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने सभी वर्ग के लोगों को साधने की कोशिश की है। जेडीयू ने ढाई दर्जन से ज्यादा मुस्लिम-यादव उम्मीदवारों को दिकट दिया है।

जेडीयू ने बुधवार को 115 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। 115 उम्मीदवारों के जरिए जेडीयू ने हर वर्ग को साधने की कोशिश की है। सवर्ण, अति-पिछड़ों और अल्पसंख्यक वोटरों में जेडीयू ने सेंधमारी की पूरी कोशिश की है। आरजेडी के प्रभुत्व वाले इलाकों में जेडीयू ने वैसे उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, जिससे वोटों का बिखराव हो। इसके साथ ही आरजेडी से आए लोगों को भी नीतीश कुमार ने इस बार निराश नहीं किया है। सभी को चुनावी मैदान में उतार दिया है।

‘MY’ समीकरण पर ज्यादा फोकस
नीतीश कुमार ने इस बार आरजेडी के कोर वोटर ‘MY’ पर फोकस किया है। मतलब मुस्लिम और यादवों के वोट पर नीतीश कुमार का पूरा ध्यान है। इस चुनाव में नीतीश कुमार ने 11 सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिए हैं। इसके साथ ही जेडीयू ने 19 यादव जाति के लोगों को भी टिकट दिया है। यानी कुल मिला कर जेडीयू ने 30 मुस्लिम-यादवों को टिकट दिया है। जेडीयू की सूची जारी करते हुए जेडीयू ने नेता आरसीपी सिंह ने कहा था कि हमारे नेता समावेशी विकास के अगुआ हैं। टिकट बंटवारे में सभी वर्ग के लोगों का ध्यान रखा गया है।

इन सीटों पर दिए हैं मुस्लिम उम्मीदवार
जेडीयू ने पूर्वी चंपारण के सिकटा से खुर्शीद, शिवहर से शरफुद्दीन को, अररिया से शगुफ्ता अजीम, ठाकुरगंज से नौशाद आलम, कोचाधामन से मो. मुजाहिद आलम, अमौर से सवा जफर, दरभंगा ग्रामीण से फराज फातमी, कांटी से मो. जमाल, मढ़ौरा से अलताफ राजू, महुआ से आस्मा परवीन और डुमरांव से अंजुम आरा को टिकट दिया है।

ये हैं जेडीयू के यादव उम्मीदवार
गोविंदपुर से पूर्णिमा यादव, नवादा से कौशल यादव, अतरी से मनोरमा देवी, शेरघाटी से विनोद प्रसाद यादव, संदेश से विजेंद्र यादव, पालीगंज से बच्चा यादव, बेलहर से मनोज यादव, खगड़िया से पूनम यादव, परसा से चंद्रिका राय, गायघाट से महेश्वर प्रसाद यादव, निर्मली से अनिरुद्ध प्रसाद यादव, सुपौल से विजेंद्र प्रसाद यादव, आलमनगर से नरेंद्न नारायण यादव, सुरसंड से दिलीप राय, हसनपुर से राजकुमार राय, लौकहा से लक्ष्मेश्वर राय, कदवा से सूरज प्रसाद राय और बाजपट्टी से रंजू गीता को टिकट दिया है।

सवर्णों पर भी नीतीश कुमार की मेहरबानी
सिर्फ यादव और मुस्लिमों पर ही नहीं, सवर्ण वोटरों पर भी नीतीश कुमार की मेहरबानी है। नीतीश कुमार ने इस चुनाव में 19 सवर्ण उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। इसमें 2 ब्राह्मण, 7 राजपूत और 8 भूमिहार उम्मीदवार मैदान में हैं। क्योंकि पूर्व में नीतीश कुमार की पार्टी से अगड़ी जाति के उम्मीदवार चुनाव जीत कर आते रहे हैं। वहीं, कुछ समय से बिहार में अगड़ी जाति के लोग नीतीश कुमार के कुछ फैसलों से नाराज भी चल रहे हैं। ऐसे में उन्हें खुश करने के लिए नीतीश कुमार ने यह दांव चला है।