स्वदेशी रक्षा क्षमता ‘स्थायी शांति’ की बुनियाद है: राजनाथ सिंह

0
23

नई दिल्ली
पूर्वी लद्दाख में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच तनावपूर्ण सीमा गतिरोध के बीच रक्षा मंत्री ने बुधवार को कहा कि भारत शांतप्रिय देश है और उसका मानना है कि स्वदेशी रक्षा क्षमता ‘स्थायी शांति’ की बुनियाद है। आने वाली एयरो इंडिया प्रदर्शनी पर विदेशी राजदूतों के समूह को डिजिटल माध्यम से संबोधित करते हुए सिंह ने भारत को अहम हथियार प्रणालियों का उत्पादन केंद्र बनाने के लिए सरकार की तरफ से उठाए गए तमाम सुधारों का जिक्र भी किया।

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘हम शांतिप्रिय देश हैं। हम दुनियाभर में शांति और स्थायित्व के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम इस विश्वास के लिए प्रतिबद्ध हैं कि आत्मनिर्भरता और स्वदेशी रक्षा क्षमता स्थायी शांति की बुनियाद है।’ अधिकारियों के अनुसार 75 से अधिक देशों के राजदूतों, मिशन प्रमुखों और रक्षा अधिकारियों ने इस ऑनलाइन सम्मेलन में हिस्सा लिया।

भारत को रक्षा विनिर्माण के क्षेत्र में निवेश के लिए आकर्षक स्थल के रूप में पेश करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा, ‘इस दुनिया को और सुरक्षित, शांतपूर्ण और समृद्ध स्थान बनाने के लिए आपस में हाथ मिलाने और सोद्देश्य व प्रगतिशील तरीके से अपना स्वाभाविक गठबंधन बनाने की राह में आने वाली रूकावटों को हमें दूर करने की जरूरत है।’

राजनाथ सिंह ने रक्षा विनिर्माण में भारत के पास मौजूद शक्ति का जिक्र करते हुए कहा कि उनका देश रक्षा और एयरोस्पेस के क्षेत्र में दुनिया के 5 शीर्ष देशों में आने के लिए ठान चुका है। सिंह ने कहा, ‘हम दुनिया के उन चंद देशों में से एक हैं जो चौथी पीढ़ी के लड़ाकू विमान, परमाणु पनडुब्बी, मुख्य युद्ध टैंक और अंतरमहाद्वीय बलिस्टिक मिसाइलें बनाता है।’

राजदूतों से अपने-अपने देशों के रक्षा विनिर्माताओं एवं नीति निर्माताओं को एयरो इंडिया में शिरकत करने के लिए प्रोत्साहित करने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम कारोबारी संभावनाओं को खंगालने के वास्ते एयरोस्पेस उद्योग के लिए अहम मंच है। एशिया की सबसे बड़ी एयरोस्पेस प्रदर्शनी समझा जाने वाला ‘एयरो इंडिया’ अगले साल 3 से 7 फरवरी के दौरान बेंगलुरु में होगा।