राहुल बोले- 15 मिनट में चाइना को उठाकर फेंक देते, लोग याद दिलाने लगे अक्साई चिन

0
14

नई दिल्ली
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तनाव (India-China tension at Ladakh) के मुद्दे पर लगातार मोदी सरकार पर हमलावर हैं। मई में तनाव की शुरुआत के बाद से ही वह भारत की जमीन पर चीन के कब्जा करने के आरोप लगा रहे हैं। अब तो उन्होंने पीएम मोदी को ‘कायर’ करार देते हुए दावा किया है कि (Rahul Gandhi attacks PM Modi) अगर उनकी सरकार होती तो 15 मिनट नहीं लगते चाइना को उठाकर फेंकने में। उनके इस दावे के बाद सोशल मीडिया खासकर ट्विटर पर अक्साई चिन ट्रेंड करने लगा है और राहुल गांधी ट्रोल हो रहे हैं। बीजेपी ने भी उन पर हमला बोला है। यूजर्स पूछ रहे हैं कि चीन ने अक्साई चिन को किसकी सरकार रहते हड़पा था। बता दें कि अक्साई चिन जम्मू-कश्मीर का हिस्सा है लेकिन उस पर चीन का अवैध कब्जा है। जवाहर लाल नेहरू के प्रधानमंत्री रहते ड्रैगन ने उस पर अवैध कब्जा किया था।

एक यूजर ने तो 1962 की जंग में भारत की हार के बाद देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के उस चर्चित बयान का हवाला देकर राहुल पर तंज कसा जिसमें तत्कालीन पीएम ने कहा था कि अक्साई चिन में घास का एक तिनका भी नहीं उगता। यूजर्स ने लिखा, ‘वहां घास का एक तिनका भी नहीं उगता’- दुनिया के सर्वश्रेष्ठ प्रधानमंत्री। पंडित नेहरू के उस बयान पर तत्कालीन सांसद महावीर त्यागी ने संसद में अपने गंजे सिर को दिखाते हुए पूछा था कि तिनका तो यहां भी नहीं है तो क्या मैं इसे काटकर फेंक दूं या किसी और को दे दूं।

क्या कहा था राहुल गांधी ने
दरअसल राहुल गांधी ने मंगलवार को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में किसान रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कायर बताया था। उन्होंने कहा था, ‘जब हमारी सरकार थी, मैं आपको गारंटी देता हूं, चाइना में इतना दम नहीं था कि वो हमारे देश में एक कदम भी डाल दे। आज पूरी दुनिया में एक ही देश है जिसके अंदर कोई और देश की सेना आई। 1200 वर्ग किलोमीटर ले गई और कायर प्रधानमंत्री कहता है कि इस देश की जमीन किसी ने नहीं ली। पूरी दुनिया में एक ही देश है जिसकी जमीन हड़पी गई, वह है हिंदुस्तान’ उन्होंने आगे कहा, ‘…मैं आपको बता रहा हूं कि हमारी सरकार होती न तो उठाकर फेंक देते चाइना को बाहर।…15 मिनट लगते बस।’

पीएम को कायर बताने पर बीजेपी आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय ने गांधी-नेहरू परिवार को ही कायर, तानाशाह और भ्रष्ट बता दिया। मालवीय ने ट्वीट किया, ‘तो कायर नेहरू के परनाती, तानाशाह इंदिरा के नाती, लूजर राजीव और भ्रष्ट सोनिया के बेटे ने यह बात कही।’

जानी-मानी वरिष्ठ पत्रकार तवलीन सिंह ने भी राहुल गांधी के बयान को बचकाना बताया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘राहुल गांधी का किसी अपरिपक्व स्कूली बच्चे जैसा बर्ताव जारी है।’

लेखिका शेफाली वैद्य ने सवाल किया, ‘वाकई, पहली बात तो यह कि अक्साई चिन के लिए कौन जिम्मेदार था? क्या राहुल गांधी को लगता है कि इस देश में हर कोई उनकी तरह ही झूठा मूर्ख है?’

ऐसा पहली बार नहीं है जब राहुल गांधी ने पूर्वी लद्दाख में चीनी अतिक्रमण को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है। हालांकि, मोदी सरकार चीनी सैनिकों के भारतीय भू-भाग में होने की बात से इनकार करती आई है।

उनके हमलों पर बीजेपी भी पलटवार करती आई है और उन्हें अक्साई चिन की याद दिलाती है। जून में जब राहुल गांधी ने भारतीय जमीन पर चीन के कब्जे का आरोप लगाया था तब लद्दाख से बीजेपी सांसद ने पलटवार करते हुए कहा था कि हां, चीन ने हमारी जमीन पर कब्जा किया है। 1962 में कांग्रेस शासन के दौरान 37,244 वर्ग किलोमीटर अक्साई चिन। इसके अलावा कांग्रेस की अगुआई वाली यूपीए सरकार के दौरान भी चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा किया।